बस में मिला एक नौजवान के साथ कामुकता


Click to Download this video!

मैं: ‘पागल हो क्या’!

यह कह कर मैंने मोबाइल काट दिया.

जब मैंने मोबाइल बिस्तर पर फेका तब तक मैं इतनी गीली हो चुकी थी की अनायास मेरा हाथ चूत पर चला गया और उसी हालत में मेरी उसकी हुयी बात को याद करते हुये मैं मास्टरबेट करने लगी. मेरी उंगलियां मेरी गीली चूत के अंदर बहार हो रही थी और मैं अपनी क्लिट को भी बेरहमी से रगड़ रही थी. मैं लड़के की हिम्मत के बारे में सोंच रही थी, जो मुझसे २० साल छोटा था लेकिन बड़े अधिकार से मुझ से बिना पैंटी के साडी पहनने के लिए कह रहा था ताकि वोह भरी बस में खुले आम मेरे चूतरो से और मस्ती ले सके. सेक्स की इस असीम चाहत से मैं रोमांचित हो उठी और मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. मैं बिस्तर पर पड़े पड़े उसी के बारे में और उससे हुयी बातो के बारे में सोचती रही. मैंने उसका नंबर अपने मोबाइल में, एक लड़की के नाम सेव कर लिया. तब मुझे ध्यान आया की अभी तक न मैंने अपना नाम उसे बताया था न उसने ही अपना नाम मुझे बताया था.

अगले दिन जब मैं अपनी बेटी को छोड़ने के लिए तैयार हुयी तब मुझे कल वाली उसकी बात ध्यान में आयी. मैंने शीशे में अपने आपको घूरा और मैंने अपनी साडी पेटीकोट उठा कर एक झटके में पैंटी उतार दी. मैं जब बाहर निकली तो बिना पैंटी के मुझे बड़ा अजीब लग रहा था. लग रहा था मेरी चूत भरे बाज़ार नंगी होगयी है और मेरी झांघो के बीच वोह रगड़ी जा रही है.मैं अंदर ही अंदर बहुत उतेजित भी थी और सोंच भी रही थी, हे भगवान! मैं यह क्या कर रही हूँ! वह भी एक २० साल के प्रेमी के लिए! मैं जब बस स्टॉप पर पहुँची वह लड़का वहाँ पहले से ही खड़ा था. उसने जीन्स और टी शर्ट पहने हुयी थी, हमारी आँखे मिली और हमने नज़र घुमा ली, जैसे हम दोनों एक दुसरे को नहीं जानते .

हमेशा की तरह मैं हैंडल पकड़ कर खड़ी होगयी और वोह लड़का धक्का देता हुआ ठीक मेरे पीछे आकर खड़ा होगया. उसने फ़ौरन मेरी कमर के नीचे हाथ रख कर मेरी पैंटी को महसूस करने की कोशिश की. जब उसको इसका एहसास हो गया की आज मैंने उसके कहने पर पैंटी नहीं पहनी है तब उसने मेरे चूतरो को थप थपा दिया, जैसे वोह मुझे धन्यवाद दे रहा हो. बिना पैंटी के जब उसके हाथ मेरे चूतरो के ऊपर पड़े मैं बिना दांत भीचे नहीं रह पायी. आज पहली बार उसके उद्वेलित हाथो की गर्मी मेरे चूतरो पर सिर्फ साडी के ऊपर से महसूस कर रही थी. मैंने थोड़े पैर और फैला दिया और जैस मुझे उम्मीद थी उसका कड़ा लंड मेरे चूतरो की दरार से रगड़ खाने लगा. आज वह अपना लंड वही रगड़ रहा था और मेरे चूतरो को मसल भी रहा था,मैं बिलकुल अलग दुनिया में पहुँच गयी थी, उस भीड़ भरी बस में मैं वासना के उस सागर का सुख ले रही थी जो मेरी शादी के १८ साल बाद भी अभी तक मुझसे महरूम था. पुरे रास्ते उसका लंड मेरे चूतरो पर रगड़ता रहा और मेरी चूत भी आज कुछ ज्यादा गीली हो गयी थी. आज मैं पैंटी नहीं पहने थी, मेरी चूत का पानी बहकर मेरी जांघो पर आगया था. जब उसका स्टॉप आया वोह उतरने के लिए आगे आया और जाते जाते धीरे से मुझे ‘थैंक्स, कॉल मी’ कहते हुये आगे बढ़ गया. मैं मूर्ति की तरह वैसे ही वैसे खड़ी रही.

यह कहानी भी पड़े भाभी की चुदाई शादी में

मैं जैसे तैसे घर पहुँची और घुसते ही रुमाल से मैंने अपनी बहती हुयी चूत को पोंछा और उसको मोबाइल लगा दिया.

वोह: ‘हाय दिलरुबा!’

मैं: ‘हम्म्म’.

वोह: ‘थैंक्स, मेरी इच्छा पूरी करने के लिए’.

मैं: ‘ हाँ, मैं बच्चो को निराश नहीं करती’.

यह कह कर हॅसने लगी और वह भी हॅसने लगा.

वोह: ‘हम कब मिल सकते है?’

मैं चुप हो गयी. मिलने की इच्छा मुझे भी होने लगी थी और मन मानने लगा था की उससे मिलने में कोई बुराई और खतरा नहीं है. लेकिन परेशानी थी की मैं उससे कहाँ मिल सकती हूँ?

मैं: ‘मुझको नहीं पता. कोई ऐसी जगह नहीं समझ में आती जहाँ मैं तुमसे मिल सकू’.

वोह: ‘मैं आपको अपने घर नहीं ले जा सकता, मेरी माँ हमेशा घर रहती है. आपका घर कैसा रहेगा?’

मैं: ‘मेरा घर?’

उसने जब मेरे घर की बात की तब मैं सोचने लगी की बात सो सही है, मेरी नौकरानी १२ बजे चली जाती थी और ४ बजे मैं अपनी बेटी को लेने स्कूल के लिए निकलती थी. १२ से ४ के बीच मैं घर पर बिलकुल ही अकेली रहती थी. मैंने बिना हिचके उसको १२:३० बजे का समय दे दिया और अपने मकान का पता बता दिया.

अगले दिन वह बस स्टॉप पर नहीं दिखा, मैं घर ऑटो रिक्शॉ पकड़ कर जल्दी आगयी. नौकरानी को भी मैंने जल्दी कम ख़तम करने को कहा और १२ से पहले ही उसे भी घर के बाहर कर के दरवाज़ा बंद कर दिया. उसके जेन के बाद मैं बिलकुल एक कामातुर प्रेमिका की तरह कपडे निकलने लगी. मैंने अब स्लीवलेस काले रंग का ब्लाउज पहन लिया जिसकी बैक खुली थी और उसके साथ सफ़ेद रंग की साडी जिस पर काले पोल्का डॉट पड़े थे पहन ली. बड़ी अजीब बात थी, यह साडी मेरे पति की पसंदीदा साडी थी, जो उन्होंने मुझे शादी की १५ वीं वर्ष गांठ पर दी थी. जब मैंने पहली बार इस साडी को पहना तो उन्होंने मुझसे कहा था, की मैं बहुत सेक्सी लग रही हूँ और उन्होने वही साडी उठा कर मुझे जल्दी से चोदा और उसके बाद ही हम लोग बाहर खाने पर गए थे. मैंने साडी पहन कर अपने आप को शीशे में निहारा और अपने पर रश्क कर बैठी, मैं आज भी इस साडी में बहुत सुन्दर और सेक्सी लग रही थी.मैं अपने को निहार ही रही थी कि तभी बाहर दरवाज़े पर घंटी बजी. मैं एक बार ठिठकी, एक बार और अपने को देखा और फिर दरवाजा खोलने चली गई.

यह कहानी भी पड़े नोकरानी को सिड्यूस कर के रंडी बनाया

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


आहऽऽ सेक्स स्टोरीमममी बोली की चुत ने मत झडनाMaine apna jism uske hwale kr Diya Gand storyसांस समीर हिंदी सेक्स कहानीमाँ और मौसी की चुदाईएक सेठानी जो मोटी थी जो लंड चुतसाली की बेटी का कुँवारा यौवन पार्ट 2भाभी के बुर का स्वाद कहानीcudai kahaniya kamini exbiiकविता कि सेक्स कहानियाभैया मेरी चुत फट गई कहानी Antar tai की cudaiShakira Hindi chudai bur ka Choda saal mein2018की भाभी की बस के सफर मे चुकाई की कहानियाsex100%vetnamBehan ne gift diya sex storiesapna beej mere kokh me bhar de sex storieswww.xnxx.com.yidaoaaj mai teri chut chod kar rahunga aahhhh bubySex stories. Behan ka giftpissab piya threesome hindi sex storiesBethao sexy kya hहिन्दी अंतरवसना सेक्सी फोटो कहानी सिस्टर जबरदस्त छोडा ब्लैक मेल कर मालिश माँ सेक्सी वीडियोसchut me giravali sexsi vidobeizzat mat karo hindi sex storiesइंडियन मम्मी बेटा की chudae गाँव में कहानी हिन्दी मेंभाभी की बूब दबा के मजे कियाdusron ki bibiya chodne ki khaniyasalma ne xhudwaya storyऊऊईईमाँ ने मौसी को मुझसे चूदाईमाँ को खेत में चोदाantarvasna taibus me mili aunty ki chudai storynaye shohar se chudiChudai like lambi kahaniya Hindi sez storyबिना कपड़ो की चुदाईबाई.की.चुदाईBhanjidi ko land ka maja diya hindi sex story. Comlamba mota land ka romantik xxxncomचाची की चुत चाटने मजा आता हैअपने दोस्त की माँ को चोदामेरी बहन को दोस्त में रखेल बनायाanyar vashna mamu bhanjixxx bur me laddalke chudns hinde dashiSavita Chachi Aur Pados Ki Chudasi Auntiyan- Partघर में चुदाई करते देखा सेक्स स्टोरीSamuhik chudai ki kahaniya gundo ke sath meभैया मेरे बूबस पर मूतोचुत फिगरKapde utaare maine mami keट्रेन मे माँ की चुदाईचोदाइXnxxDushman चुदाईchuta kd lrki xxxसफर मे चूदाई फिल्मेchudai इजाजत दी पति नेchudai hindi kahani incestRas bhari gudaj gaandmama ke 12 inch ke land se khet me bur fadwayimashab ne medam ki choodai ki kahaniमेरी गांड भी बहुत ही बुरी तरह से मारता थासाड़ियां छोड़कर पजाबी कपडे sexचाची को चोदा सेक्स स्टोरीBehan ne gift diya sex storiesMummy ke najayaj sambandh antarvasnaबड़ी गण्ड की मोटे छेद चुदाई सेक्स स्टोरीपहला लण्डमालकिन की चूदाई जोर जोर सेसेकसी वीडियो फोकी।मै।लढ।ढालते।हुऐ।सविता की चूत की मालिशTAI KI chudai ki KHANIYAपापा से घमासान चुदायी कहानी Kasmakas antarvasnahidiadultstoryउसके स्तनों का वो नमकीन स्वादआह अममी औह हीनदी सेकस कहानीयामाँ की चुदाई नाहते समय सेक्सी स्टोरी हिंदीमेरी बहन को दोस्त में रखेल बनाया