कच्ची उम्र की कामुकता Part 2


Click to Download this video!

मॉंटी, रोमी और लकी तीनो रिंकू के गुलाम थे, उसके सेक्स स्लेव्स, सेक्स टायीस, इस वक़्त लकी तो वाहा नही था……मॉंटी और रोमी ने तुरंत सहमति जताई.

“तो फिर ठीक है, उसे आने मे अभी आधा घंटा बाकी हैं तब तक तुम भी अपने आप को ‘खाली’ करो आर मूज़े भी ‘खाली’ करो”……..रिंकू ने तुरंत, अपने कपड़े उतार फेके, उनके सामने घोड़ी बन गई, मूह खोलकर

रश्मि अपने घर से निकली, फिर से एक बार…….

रिंकू का बाप अग्रवाल शहर का सब से बड़ा बिज्नेस्मेन था,…और नीलू का बाप, मिस्टर मल्होत्रा, उतना बड़ा ना सही लेकिन उससे भी बड़े मकाम पर पहुचने की ख्वाहिश रखता था, …दोनो के लिए, अपने बज़ाइनेस के अलावा, ज़्यादा महत्व पूर्णा कुछ नही था,….आम तौर पे लोग मानते हैं,..”एवरी थिंग ईज़ फेर इन वॉर & लव”…….लेकिन हमारे दोनो ही बड़े बाप मानते थे……”एवेरी थिंग इस फेर इन वॉर, लव & बज़ाइनेस….फॅमिली का रोल सिर्फ़ समाज मे अपनी साफ छबि को बनाए रखने के लिए होता था,….और यही वजह थी, जब उन्हे, अपनी औलादो की करतूत की खबर लगी,..तो उनके माथे पर बल पड़ गये…….इश्स लिए नही की वो नीलू की तबीयत को लेकर चिंतित थे, या रिंकू के बहके कदमो को लेकर चिंतित थे……..उनकी चिंता का विषय था…..अगर मेडिया या पुलिसे द्वारा बात फैल गयी, तो उनकी साफ सुथरी छबि ख़तरे मे पड़ जाएगी, और साथ ही ख़तरे मे पड़ जाएगा उनका बज़ाइनेस.

मिस्टर अगरवाल के पॅलेस नुमा बंग्लॉ मे उनकी इसी टॉपिक पर चर्चा हो रही थी जब,… अपने बेड रूम मे रिंकू, अपने दोस्तो से, ‘खाली’ हो रही थी, और उन्हे ‘खाली’ कर रही थी…….और जहा,थोड़ी ही देर मे, रश्मि पहुचने वाली थी.

क्या यही हैं जिंदगी, हमारे आधुनिक समाज़ की….!

“मिस्टर मल्होत्रा….जो हुआ, ठीक नही हुआ…नीलू की मूज़े चिंता हो रही हैं”……..मिस्टर अग्रवाल ने अपनी नकली चिंता जताई.

यह कहानी भी पड़े सुहाना सफ़र है और मौसम चुदासी भरा

“मूज़े तो उसकी नही….किसी और बात की चिंता हो रही हैं……डॉक्टरो का कहना हैं,..वो जल्दी ठीक हो जाएगी…लेकिन मूज़े बात फैलने का डर है”………ये थे “एवेरी थिंग ईज़…….वाले मल्होत्रा साहब…..जिनकी औलाद, कोमा मे…जिंदगी और मौत से जूझ रही थी…!

“उसकी आप चिंता ना करे….मल्होत्रा साहब….वो आप मूज़ पर छोड़ दीजिए गा,…इश्स शहर मे किसी की मज़ाल नही जो मेरे खिलाफ जाए…..पैसे का सेमेंट हर छेद बड़ी सफाई से बंद कर देता हैं”……..अग्रवाल भी सही था…..कम कम से कम तब तक…!

“मूज़े मेडिया या पुलिसे की चिंता नही हैं…….वो लड़की….क्या नाम हैं उसका……र..राशमी…वो भी इसमे शामिल थी…और वो नीलू की ख़ास्स सहेली है…..उसने मूह फाड़ दिया तो……?

“उसकी चिंता भी मूज़ पर छोड़ दो…..मैने रिंकू से बात की है…..वो उसे ‘अच्छे से संभाल ‘ लेगी…”

“ठीक हैं फिर,… मैं ज़रा हॉस्पिटल का चक्कर लगा लू….फिर मुझे एक अर्जेंट मीटिंग मे जाना हैं”

दोनो ही डॅडी यो ने बॉटटम्स अप किया और उनकी मीटिंग बर्खास्त हुई

मिस्टर मल्होत्रा की कार बाहर निकली, और रश्मि ने बंग्लॉ मे कदम रखा

आमिर का फोन बज उठा, वो उस वक़्त हॉस्पिटल के बाहर एक कोल्ड्रींक के स्टॉल पे खड़ा सिगरेट के हल्के हल्के कश लगा रहा था, हाथ मे ताजी खुली मिरींडा की बोतल थी, उसने फोन उठाया………दूसरी तरफ इनस्प राजपूत था,

“हाँ राजपूत साहब बोलो…क्या बात हैं, कुछ हाथ लगा..?”……..आमिर की आवाज़ मे बेसब्री थी.
‘हाँ,…कुछ तो लगा…लेकिन मुकम्मल नही,….बात बड़े लोगो की है…कोई खुल कर कुछ नही कहना चाहता…..कुछ पैसो का लालच, कुछ बड़े लोगो की बड़ी पहुच…….लेकिन जो कुछ पता लगा,वो ये की……लड़की का नाम नीलू हैं,और वो शहर के नामी बिज़्नेसमॅन मिस्टर मल्होत्रा की बेटी है……लड़की को किसी हादसे का शिकार बताया जाता हैं…..ये हादसा कोई आक्सिडेंट हैं या फिर कुछ और बात हैं, ये कोई नही जनता, या बताना नही चाहता……डिपार्टमेंट मे भी सभी के मूह पर ताले लगा दिए गये हैं…..लड़की इश्स वक़्त कोमा मे हैं…….जिस तरह से सब चुप्पी साधे हैं, जाहिर हैं दाल मे कुछ काला है…..या पूरी दाल ही काली हो….मैं और कुरेदने की कोशिश कर रहा हूँ…..अब तुम बताओ..!”…………राजपूत ने अपनी जानकारी एक ही सास मे कह डाली.

यह कहानी भी पड़े The Twins – Part 1

“मुझे भी ऐसा लग रहा हैं, पूरी दाल ही काली हैं……सिर्फ़ आक्सिडेंट हो तो कोई एतनि एहतियात नही बरतता……मैं इश्स वक़्त हॉस्पिटल के बाहर हूँ…और मेरी एक जानकार इसी हॉस्पिटल मे नर्स है,…उससे कुछ उगलवाने की फिराक मे हूँ……बाकी बाद मे बतौन्गा….एक बात तो तय है…जेब मे से रोकडे की खुशबू आ रही हैं….!…….फिर आमिर ने फोन काट दिया.

जिस नर्स का आमिर जिक्रा कर रहा था….उसका नाम तरुणया था, लेकिन करीबी लोग उसे तनु कहते थे…….एक बार, एक मरीज के मौत के केस मे, वो फसगाई थी, तो आमिर ने अपने अख़बार मे उसकी तरफ़दारी मे ऐसा कुछ लिखा था,..की वो उस लफदे मे से सही सलामत बाहर निकली थी,…..तब से वो आमिर का ‘शुक्रिया अदा करने का कोई मौका’ नही गवाती थी…..और आज आमिर की उम्मीदे उसी पर टिकी थी…..वो उसी की रह देख रहा था…..उसने आधे घंटे मे उसे बाहर मिलने को कहा था

तरुणया जवान, खूबसूरत और सेक्सी तो थी ही, लेकिन सचमुच एक दक्षा नर्स थी, पिछले केस मे वो बेमतलब ही फस गयी थी, जब आमिर ने उसे अर्जेंट मिलने को कहा तो, उसकी बाछे खिल गयी थी,……आमिर का ‘शुक्रिया अदा करना’ उसे हमेशा अक्च्छा लगता था….आमिर एक अच्छा ‘घुड़सवार’ था, और उसे ‘घुड़सवारी’ बेहद पसंद थी.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


khet me nahate xxx khani hindi maa ki iska meचूत चुदाई का खेलहिन्दी सेक्स स्टोरीpark ma cuht ma boht dalana sexbhabhe ko choda chud my viry nekala xxx porn vidoनीदं मे दिदि कि गाड़ मारीsex stories taeji ki gaand salwar k upr se mareअन्तर्वासनाहिदी।चोदाई।चाहीअचा चुतचुत का रस और चुदाई .combahu ki chut sasur ka londaटयुशन के सर ने मेरीकमला बहु और ससुरछत पर चूदाईचुत का रस और चुदाई .comमेरी वाइफ की बर्बादी 1 hindi sex storyमाँ की रसीली चुत लीनैंसी की चूत मारीgand ka dard mitaya uncle ne आँखों से कोसों दूर थी। अचानक अरूण ने मेरी ओर करवट ली और बोले, “पानी दोगी क्या, प्यास लगी है !” मैं उठी और अरूण के लिये पानी लेने चली गई। वापस आई तो अरूण जग चुके थे और मेरे हाथ से पानी लेकर पीने के बाद मुझे खींचकर फिर से अपने पास बैठा लिया और अपना सिर मेरी गोदी में रखकर लेट गये। मैं उनके बालों को सहलाने लगी, मैंने देखा उनका लिंग मूर्छा से बाहर आने लगा था उसमें हल्की हलविधवा भाभी की चुदाई की कहानीभैया कि रखैल चूदाई की कहानी Chachi fufa or hamara naukar sex stories ससुर और पति हिंदी सेक्स स्टोरीpayal ki chudai samuhikसफर मे चुदाई कहनीnancy ki xxx kahaniके पेटीकोट का नाड़ा सेक्स स्टोरीजShelia baap ki patani BNI chudaiसेक्सी हिंदी कहानीdipalimera pehla gangbang chudai storyचुदाईजारीKapde utaare maine mami keचोदाई विडीयो अछसेchoti bhan ko choda srdiyo meantarasana storiesतेरी बीवी की ब्रा उतार रहा हूंमामी के बुर मेलंड कहानीडॉक्टर रश्मि की चालाकी -2 sexy stories sex story bhabhi ne chudwaya padosan bahane se shararatbeti ki pyas4मेरी जब आँख खुली तो देखा कि मैं अस्पताल में था hindi sex storऐसा मोटा लंड लिया कि बुर खून से लाल हो गयाबीवी थी गैर मर्द के बाहों में chudaiहिंदी सेक्से दीदी की मोठे मोठे गण्डसेक्सी स्टोरी इन पोर्न मूवीpayal ke sath hotel me incest story part 2दीदी की स्टेज सो में पैंटी देखिSamuhik chudai ki kahaniya gundo ke sath meतेरी बीवी की ब्रा उतार रहा हूंमेरी अधूरी बुर चुदाई Vaasna Saxअकेले घर में पड़ोस की लड़की को बहाने Sex storyBhanjidi ko khelane ke liye land diya hindi sex story. Comkahani xxx gand chiknaराज शर्मा हिंदी सेक्सी स्टोरी इन्सेस्टताई कि चुदाईविधवा मैडम को चोदालंड पे मंगलसूत्र लपेट के चूसboss ne aunty ko daboch liya sex stories Maire phuphi land ki pyasseताई की चूतHindi siskibhari sexमदमस्त अंगड़ाईmaidm sa pyar stori xxxapna beej mere kokh me bhar de sex storiesभाई ने बहन और उसकी सहेली की कुँवारी बुर और गाड़ पेल कर फाड़ दिया antarvasana ushakiबरसात में माँ को छोड़ा सेक्स स्टोरी