कामुकता कहानी माँ बेटी और राजू


Click to Download this video!

उस समय मैं और मम्मी उस घर में अकेले ही रह गये थे। बड़ा घर था। पापा की असामयिक मृत्यु के कारण मम्मी को उनकी जगह रेल्वे में नौकरी मिल गई थी। मम्मी की आवाज सुरीली थी सो उन्हें मुख्य स्टेशन पर अनांउन्सर का काम मिल गया था।

यूँ तो अधिकतर सभी कुछ रेकोर्डेड होता था पर कुछ सूचनायें उन्हें बोल कर भी देनी होती थी। मम्मी की उमर अभी कोई अड़तीस वर्ष की थी। अपने आप को उन्होंने बहुत संवार कर रखा था। उनका दुबला पतला बदन साड़ी में खूब जंचता था। रेलवे वाले अभी भी उन पर लाईन मारा करते थे। शायद मम्मी को उसमें मजा भी आता था।


मैं भी मम्मी की तरह सुन्दर हूँ… गोरी हूँ, तीखे नयन नक्श वाली। कॉलेज में मेरे कई आशिक थे, पर मैंने कभी भी आँख उठा कर उन्हें नहीं देखा था। हाँ, वैसे मैंने एक आशिक संदीप पाल रखा था। वो मेरा सारा कार्य कर देता था। घर के काम… बाहर के काम… कॉलेज के काम और कभी कभार मम्मी के काम भी कर दिया करता था। वैसे मैं उसे भैया कहकर बुलाती थी… पर मम्मी को पता था कि यह तो सिर्फ़ दिखावे के लिये है। फिर एक बार मम्मी की अनुपस्थिति में उसने मुझे जबरदस्ती चोद भी दिया था। मेरा कुंवारापन नष्ट कर दिया था।… बस उसके बाद से ही मेरी उससे अनबन हो गई थी। मैंने उससे दोस्ती तोड़ दी थी। यूं तो उसने मुझे मनाने की बहुत
कोशिश थी पर उसके लिये बस मन में एक ग्लानि… एक नफ़रत सी भर गई थी।

उस समय मैं कॉलेज में नई नई आई ही थी। घर तो अधिकतर खाली ही पड़ा रहता था। मम्मी की कभी कभी रात की ड्यूटी भी लग जाती थी… वैसे तो उन्हें दिन को ही ड्यूटी करनी पड़ती थी पर इमरजेन्सी में तो जाना ही पड़ता था। मम्मी यह जान कर अब परेशान रहने लगी थी कि मुझे रात को अकेली जान कर कोई चोद ना दे… या चोरी ना हो जाये। हम दोनों ने तय किया कि किसी छात्र को एक कमरा किराये पर दे दिया जाये तो कुछ सुरक्षा मिल सकती है। हम किसी परवार को नहीं देना चाहते थे क्योंकि फिर वो घर पर कब्जा करने की कोशिश करने लगते थे। यहाँ तो यह आम सी बात थी। हमें जल्दी ही एक मासूम सा लड़का… पढ़ने में होशियार… मेरे ही कॉलेज का एक लड़का मिल गया। मम्मी ने जब मुझे बताया तो मुझे भला क्या आपत्ति हो सकती थी। वो मेरा सीनियर भी था। राजेन्द्र था उसका नाम, जिसे हम राजू कह कर बुलाते थे।

यह कहानी भी पड़े फिर से जवानी आ गई - 2

कुछ ही दिनों में उसकी और मेरी अच्छी मित्रता भी हो गई थी। हम दोनों आपस में खूब बतियाते थे। मम्मी तो बहुत ही खुश थी। हम सभी साथ साथ टीवी भी देखते थे। भोजन भी अधिकतर वो हमारे साथ ही करता था। फिर वो एक दिन पेईंग गेस्ट भी बन गया। पांच छ: माह गुजर चुके थे। उसका कमरा मेरे कमरे से लगा हुआ था दोनों के बीच में खिड़की थी जो बन्द रहती थी। कांच टूटे फ़ूटे होने के कारण मैंने एक परदा लगा रखा था। वो अपने कमरे में रात को अक्सर अपने कम्प्यूटर पर व्यस्त रहता था। मुझे राजू से इतने दिनों में एक लगाव सा हो गया था। मैं अब उस पर नजर रखने लगी थी कि वो क्या क्या करता है? जवान वो था… जवान मैं भी थी, विपरीत सेक्स का आकर्षण भी था। एक बार खिड़की के छेद से… हालांकि बहुत मुश्किल से दिखता था… पर कुछ तो दिख ही जाता था… मैंने कुछ ऐसा देख लिया कि मेरे दिल में खलबली मच गई। मेरा दिल धड़क उठा था। आज उसके कम्प्यूटर की जगह उसने बदली दी थी,

एकदम सामने आ गया था वो। वो रात को ब्ल्यू फ़िल्म देखा करता था। आज उसकी पोल भी खुल गई थी। मुझे भी उसकी लगाई हुई अब तो ब्ल्यू फ़िल्म साफ़ साफ़ दिख रही थी। मुझे अब स्टूल लगा कर नहीं झांकना पड़ रहा था। वो कान में इयरफ़ोन लगा कर फ़िल्म देख रहा था। फिर चूंकि उसकी पीठ मेरी तरफ़ थी इसलिये पता नहीं चला कि वो अपने लण्ड के साथ क्या कर रहा था पर मैं जानती थी कि
साहबजादे तो मुठ्ठ मारने की तैयारी कर रहे थे। वो जब चुदाई देख कर उबलने लग गया तो उसने अपनी पैंट उतार दी और फिर कुर्सी सरका कर नीचे बैठ गया। उसका लम्बा मोटा लण्ड तन कर बम्बू जैसा खड़ा हुआ था। उसने अपने लण्ड की चमड़ी को ऊपर खींच कर सुपारा बाहर निकाल लिया। इह्ह्ह्ह… चमकदार लाल सुपारा… मेरा मन डोल सा गया। उसका लण्ड अन्जाने में मुझे अपनी चूत में घुसता जान पड़ा। पर उसकी सिसकी ने ध्यान फिर खींच लिया। उसने अपना हाथ अपने सख्त लण्ड पर जमा लिया। मेरा हृदय घायल सा हो गया… एक ठण्डी आह सी निकल गई। उफ़्फ़ ! क्या बताऊँ मैं… मैं तो बस मजबूर सी खड़ी उसका मुठ्ठ मारना देखती रही और सकारियाँ भरती रही। उसका उधर वीर्य छलका, मेरी चूत ने भी अपना कामरस छोड़ दिया।

यह कहानी भी पड़े भाभी की चुदाई का मस्त मजा लिया लंड चुसवाने के बाद

मैंने अपनी चूत दबा ली। मेरी पेंटी गीली हो चुकी थी। मैंने जल्दी से परदा खींच दिया और अपनी चड्डी बदलने लगी। उस रात को मुझे नींद भी नहीं आई, बस करवटें बदलती रही… और आहें भरते रही… रात को फिर मैंने एक बार पलंग से नीचे उतर कर मुठ्ठ मार ली। पानी
निकालकर मुझे कुछ राहत सी मिली और मुझे नींद भी आ गई। मेरी नजरें अब राजू में कुछ ओर ही देख रही थी, उसके जिस्म को टटोल रही थी। मेरी नजरें अब राजू में सेक्स ढूंढने लगी थी। मेरी जवानी अब बल खाने लगी थी, लण्ड खाने को जी चाहने लगा था। मेरी यह सोच चूत पर असर डाल रही थी, वो बात बात पर गीली हो जाती थी। कॉलेज में भी मेरा मन नहीं लगता था, घर में भी गुमसुम सी रहने लगी। कैसे राजू से प्रणय निवेदन किया जाये… बाबा रे ! मर जाऊँगी मैं तो… भला क्या कहूँगी उसे…

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4


Online porn video at mobile phone


kuarichutSasurji ne chuchi dabai khet me sexy storiesmaidm sa pyar stori xxxThandi me Bua ki chudai storieschachera bhai Milne Aaya hindi part 2pissab piya threesome hindi sex storiesमैंने अपने दोस्त को चोदा Nehaगुलाबी गांड़अन्तर्वासना .Saheli ke sexy pati se chudi suffer maiSexkahanilesbianचुतचुत और लंड का तक्करchanda ki chut mari xxx satoriसेक्सी स्टोरी बहन भाई एक ही कमरे मेपुच्ची रसxxxhot tether Sirफुल रोमांटिक मजेदार क्सक्सक्स स्टोरी हिंदीबूरचूत चुदाई सेक्स कहानीantarvasna new hindi sex storisgirl ko buk karkay xxx storystrean mom antarvasnaलड़की की चूत मारीindian saxy bhabhi full hd pron video bhabhi ka bhi chutna chaiye or man ka bhibiwi ke gulam antarvasanaAntarvasna sadhuain ke choda kahaniभाईन बहन कि चुत मारीदीदी के हाथ में मेरा वीर्यचुदासे लंडa to z sex hot story in hindi me phota ki sathचुतकी झलक Hindi sex storiesकमला kake ke chudae की कहानी www xxx veedio handi bhabhi ki chudaiकेवल तेल शे चुत ओर लँड की मलिश चुदाइ Hindi sex storisमामा ने मेरी और माँ की चूदाई कीचुदन चुदई आर परAntervashna Bus me ladaki ko god me bithake chodamere land par chot lag gai maa ne malish kiतै जी की अंतर्वासनाभाई ने छूट की ओपनिंग कीमालती की चुदाई की कहानीbhan shila सेक्स स्टोरीजयपुर की लड़की चूत फोटोरस भरी चुतचाचा ने लंड डालकर दीया मजादूकान वाली की चुदाई की काहानीयाsexfufavidhwa ko rula diya sex stories bubs pakdayasexi figar big ass and looz boobs sex beeg hdगाँव में नंगी औरतों को नंगा देखा नदी के किनारे सेक्स storiesantarvasna rishta adhuri pyasxbgrupsex कॉमअन्तर्वासना फेसबुक par didi ko chodaआंटी को कंडोम लगा के छोड़ा हिंदी स्टोरीjhathu sex pron vidioxxx story kamuk saas choti saas badi saas manjali saas ki chudai kiदीदी जीजाजी मॉम डैड की चुदाई स्टोरीजपापा ने धीरे धीरे लंड घुसायाचुदकर चुदाईबुआ का चोदा पापा के साथ मिलकरDushman चुदाईantarvasna taiमेरा 12 इंच का लण्दमेरी सुहागरातwww.hindi me sexse kok shastir.comनशीली चूतdoctor ke pas gaya की चुदाई कहानियाँ .comhavili M kaki antarvasnaसेक्स कहिय हिंदीMaa ne unka raj bataya sex storiकहानी बेटी ने अपने ससुर चुदवाया माँ कोकेवल तेल शे चुत ओर लँड की मलिश चुदाइ Hindi sex storisSex satory mom 2018hindipapa ne pet se kiya hindi sex khaniyaoffice me sab chudti haindady ne mujhe 11ench ke land se choda stori and stori .comXnxx pim han quocGundo ne safar ki chudai hindiकुँवारा बदन चुदाई कहानीगुदादवार की मालिशlamba mota land ka romantik xxxncomचुदयि।हिनदी।विडीयोछोति बहन को चोदाकच्ची उम्र दूध सेक्सDushman चुदाईmera bhai mera premi chudai storiesमाँ को बेटा का इन्तजार चुदाई का