केले का भोज Part – 1


Click to Download this video!

यह एक ऐसी घटना है जिसकी याद दस साल बाद भी मुझे शर्म से पानी पानी कर देती है। लगता है धरती फट जाए और उसमें समा जाऊँ। अकेले में भी आइना देखने की हिम्मत नहीं होती।

कोई सोच भी नहीं सकता किसी के साथ ऐसा भी घट सकता है !!! एक छोटा सा केला।

उस घटना के बाद मैंने पापा से जिद करके जेएनयू (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली) ही छोड़ दिया। पता नहीं मेरी कितनी बदनामी हुई होगी। दस साल बाद आज भी किसी जेएनयू के विद्यार्थी के बारे में बात करते डर लगता है। कहीं वह सन 2000 के बैच का न निकले और सोशियोलॉजी विषय का न रहा हो। तब तो उसे जरूर मालूम होगा। खासकर हॉस्टल का रहनेवाला हो तब तो जरूर पहचान जाएगा।

गनीमत थी कि पापा को पता नहीं चला। उन्हें आश्चर्य ही होता रहा कि मैंने इतनी मेहनत से जेएनयू (जवाहरलाल नेहरू विश्व विद्यालय, दिल्ली ) की प्रवेश परीक्षा पासकर उसमें छह महीने पढ़ लेने के बाद उसे छोड़ने का फैसला क्यों कर लिया। मुझे कुछ सूझा नहीं था, मैंने पिताजी से बहाना बना दिया कि मेरा मन सोशियोलॉजी पढ़ने का नहीं कर रहा और मैं मास कम्यूनिकेशन पढ़ना चाहती हूँ। छह महीने गुजर जाने के बाद अब नया एडमिशन तो अगले साल ही सम्भव था। चाहती थी अब वहाँ जाना ही न पड़े। संयोग से मेरी किस्मत ने साथ दिया और अगले साल मुझे बर्कले यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता में छात्रवृत्ति मिल गई और मैं अमेरिका चली गई।

लेकिन विडम्बना ने मेरा पीछा वहाँ भी नहीं छोड़ा। यह छात्रवृत्ति नेहा को भी मिली थी और वह अमरीका मेरे साथ गई। वही इस कारनामे की जड़ थी। उसी ने जेएनयू में मेरी यह दुर्गति कराई थी। उसने अपने साथ मुझसे भी छात्रवृत्ति के लिए प्रार्थनापत्र भिजवाया था और पापा ने भी उसका साथ होने के कारण मुझे अकेले अमेरिका जाने की इजाजत दी थी। लेकिन नेहा की संगत ने मुझे अमेरिका में भी बेहद शर्मनाक वाकये में फँसाया, हालाँकि बाद में उसका मुझे फायदा मिला था। पर वह एक दूसरी कहानी है। नेहा एक साथ मेरी जिन्दगी में बहुत बड़ा दुर्भाग्य और बहुत बड़ा सौभाग्य दोनों थी।

यह कहानी भी पड़े चुदवाया अपने दोस्त को बोयफ़्रेंड बनाकर

वो नेहा ! जेएनयू के साबरमती हॉस्टल की लड़कियाँ की सरताज। जितनी सुंदर उससे बढ़कर तेजस्वी, बिल्लौरी आँखों में काजल की धार और बातों में प्रबुद्ध तर्क की धार, गोरापन लिये हुए छरहरा शरीर, किंचित ऊँची नासिका में चमकती हीरे की लौंग, चेहरे पर आत्मविश्वारस की चमक, बुध्दिमान और बेशर्म, न चेहरे, न चाल में संकोच या लाज की छाया, छातियाँ जैसे मांसलता की अपेक्षा गर्व से ही उठी रहतीं, उच्चवर्गीय खुले माहौल से आई तितली।

अन्य हॉस्टलों में भी उसके जैसी विलक्षण शायद ही कोई दिखी। मेरी रूममेट बनकर उसे जैसे एक टास्क मिल गया था कि किस तरह मेरी संकोची, शर्मीले स्वभाव को बदल डाले। मेरे पीछे पड़ी रहती। मुझे दकियानूसी बताकर मेरा मजाक उड़ाती रहती। उसकी तुर्शी-तेजी और पढ़ाई में असाधारण होने के कारण मेरे मन पर उसका हल्का आतंक भी रहता, हालाँकि मैं उससे अधिक सुंदर थी, उससे अधिक गोरी और मांसल लेकिन फालतू चर्बी से दूर, फिगर को लेकर मैं भी बड़ी सचेत थी, उसके साथ चलती तो लड़कों की नजर उससे ज्यादा मुझ पर गिरती, लेकिन उसका खुलापन बाजी मार ले जाता। मैं उसकी बातों का विरोध करती और एक शालीनता और सौम्यता के पर्दे के पीछे छिपकर अपना बचाव भी करती। जेएनयू का खुला माहौल भी उसकी बातों को बल प्रदान करता था। यहाँ लड़के लड़कियों के बीच भेदभाव नहीं था, दोनों बेहिचक मिलते थे। जो लड़कियाँ आरंभ में संकोची रही हों वे भी जल्दी जल्दी नए माहौल में ढल रही थीं। ऐसा नहीं कि मैं किसी पिछड़े माहौल से आई थी। मेरे पिता भी अफसर थे, तरक्कीपसंद नजरिये के थे और मैं खुद भी लड़के लड़कियों की दोस्ती के विरोध में नहीं थी। मगर मैं दोस्ती से सेक्स को दूर ही रखने की हिमायती थी

यह कहानी भी पड़े दीदी को चोदने का मूड बन गया

जबकि नेहा ऐसी किसी बंदिश का विरोध करती थी। वह कहती शादी एक कमिटमेंट जरूर है मगर शादी के बाद ही, पहले नहीं। हम कुँआरी हैं, लड़कों के साथ दोस्ती को बढ़ते हुए अंतरंग होने की इच्छा स्वाभाविक है और अंतरंगता की चरम अभिव्यक्ति तो सेक्स में ही होती है। वह शरीर के सुख को काफी महत्व देती और उस पर खुलकर बात भी करती। मैं भारतीय संस्कृति की आड़ लेकर उसकी इन बातों का विरोध करती तो वह मदनोत्सव, कौमुदी महोत्सव और जाने कहाँ कहाँ से इतिहास से तर्क लाकर साबित कर देती कि सेक्स को लेकर प्रतिबन्ध हमारे प्राचीन समाज में था ही नहीं। मुझे चुप रहना पड़ता।

पर बातें चाहे जितनी कर खारिज दो मन में उत्सुकता तो जगाती ही हैं। वह औरतों के हस्तमैथुन, समलैंगिक संबंध के बारे में बात करती। शायद मुझसे ऐसा संबंध चाहती भी थी। मैं समझ रही थी, मगर ऊपर से बेरुखी दिखाती। मुझसे पूछती कभी तुमने खुद से किया है, तुम्हारी कभी इच्छा नहीं होती! भगवान ने जो खूबियाँ दी हैं उनको नकारते रहना क्या इसका सही मान है? जैसे पढ़ाई में अच्छा होना तुम्हारा गुण है, वैसे ही तुम्हारे शरीर का भी अच्छा होना क्या तुम्हारा गुण नहीं है? अगर उसकी इज्जत करना तुम्हें पसंद है तो तुम्हारे शरीर ……

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


gao me huee pariwarik gand aur chut chudai khaniya.comभाबी की अधूरी प्यास राज सेक्स कहानीsixy hinde Kahani shijal kisuhagraat pe bhi ungli se ki santusti sex atorypappih saxy vidioबुरLadki ladke ke choot mein lund ko Condom Laga ki chudai Karti video dot-com sexyGoa antarvasnaबहन पापा से सामूहिक छुड़ाईभाभि Sexमेरी चुत लंड मांगरही हैKhun vali chudaiममी पापा कि समुहिक चुदाइमेरी अवैवाहिक सबंधलण्ड का कमालgand ka dard mitaya uncle neएक अनोखा संयोग 2 sex stories नौकर ने दोनों लड़कियों को चोदाantarvasanasexstorys.comsamuhik magha sex hindi storyपुच्चीतस्टेशन पर चुदाईBur ke chhed me Land Ghusakar maza Marane ki kahaniek. reshmi. ehsas. bur. chudai. storysuhagrat bhabhi ke saath 3lund ne chodaमेरे सामने sex storymom ke sath kheton me sexy story inhindi antarwasnaXxx video 8salcmo 2018www.hindi me sexse kok shastir.comमैं और मेरी कमीनी फैमिली • Hindi Sex Stories - Part 1दुकान मे औरतो वाले सामन की XXX कहानियाchudaibhanbhaiपड़ोसन छूट की स्टोरीmombatti dalte dekh liya story xxxwww.sarvisman ki bibi ki sex stori//buyprednisone.ru/behen-ko-randi-banaya/5/gadchudwati ass bhabhi ki kahaniभाभी और मेरी अंतरवासनामेरे पड़ोस की पर्दानशीं लड़की ने मुझ पर भरोसा कियाbus me anjaan se chudayiअंकल का 12 इंच का लंड चुत मेदीदी bivi ke kapdey pehnaker चुदाई kahaniyaबड़े लड़ से गैर मर्द से चुदाई कहानीjhathu sex pron vidiolambe balo wali doli ko choda sex storyसहलाने लगाbegani shadi mai bhen ki chut or gand fadi hindi storyचची का अदला बदली क्सक्सक्स स्टोरीपापा ने धीरे धीरे लंड घुसायाछोटी बेहन को चुदाई सीखाई कहानीभाई ने धोखे से चुदाई कीmabeta chodaistoresसहलाने लगाachche figar wali antiyaantarvasna in hindi new सामूहिक चुदाईsuhagrat bhabhi ke saath 3lund ne chodaलड डाला बहन की कची चूत मेचची का शराबी पति सेक्स स्टोरी2 ladaki 1ladaka sex stories hindi ऐसा मोटा लंड लिया कि बुर खून से लाल हो गयाmeri kamuk mummy or bua jiविधवा बहन ने भाभी के ऊपर दया storieschudaiki kahinahi hindi videos story page 1शिला आंटी की चुदाईछत पर चूदाईबाबा हिंदी सेक्स स्टोरीdo lundse chudwaiचुचिkamukta bua.comबहन के साथ पार्टी और सेक्सphim sex pham bang bang    gand ka dard mitaya uncle neचोदी चोदा फोटोmeri kamuk mummy or bua ji