केले का भोज Part – 2


Click to Download this video!

मैंने योनि के छेद पर उंगली फिराई। थोड़ा-सा गूदा घिसकर उसमें जमा हो गया था। ‘तुम्हें भी केले का स्वाद लग गया है !’ मैंने उससे हँसी की।

मैंने उस जमे गूदे को उंगली से योनि के अंदर ठेल दिया। थोड़ी सी जो उंगली पर लगी थी उसको उठाकर मुँह में चख भी लिया। एक क्षण को हिचक हुई, लेकिन सोचा नहा-धोकर साफ तो हूँ। वही परिचित मीठा, थोड़ा कसैला स्वाद, लेकिन उसके साथ मिली एक और गंध- योनि के अंदर की मुसाई गंध।

मैंने केले को उठाकर देखा, छिलके के अंदर मुँह घिस गया था। मैंने छिलका अलग कर फिर से गूदे में नाखून से खोद दिया। देखकर मन में…

मैंने योनि के छेद पर उंगली फिराई। थोड़ा-सा गूदा घिसकर उसमें जमा हो गया था। ‘तुम्हें भी केले का स्वाद लग गया है !’ मैंने उससे हँसी की।

मैंने उस जमे गूदे को उंगली से योनि के अन्दर ठेल दिया। थोड़ी सी जो उंगली पर लगी थी उसको उठाकर मुँह में चख भी लिया। एक क्षण को हिचक हुई, लेकिन सोचा नहा-धोकर साफ तो हूँ। वही परिचित मीठा, थोड़ा कसैला स्वाद, लेकिन उसके साथ मिली एक और गंध- योनि के अन्दर की मुसाई गंध।

मैंने केले को उठाकर देखा, छिलके के अन्दर मुँह घिस गया था। मैंने छिलका अलग कर फिर से गूदे में नाखून से खोद दिया। देखकर मन में एक मौज-सी आई और मैंने योनि में उंगली घुसाकर कई बार कसकर रगड़ दिया।

उस घर्षण ने मुझे थरथरा दिया और बदन में बिजली की लहरें दौड़ गईं। हूबहू मोटे लिंग-से दिखते उस केले के मुँह को मैंने पुचकार कर चूम लिया।

और उसी क्षण लगा, मन से सारी चिंता निकल गई है, कोई डर या संकोच नहीं।

यह कहानी भी पड़े भाभी ने दी मेरी गाँड़ में ऊँगली

मैंने बेफिक्र होकर केले को योनि के मुँह पर लगा दिया और उसे रगड़ने लगी। दूसरे हाथ की तर्जनी अपने आप भगांकुर पर घूमने लगी। आनन्द की लहरों में नौका बहने लगी, साँसें तेज होने लगीं। मैंने खुद अपने यौवन कपोतों को तेज तेज उठते बैठते देख मैंने उन्हें एक बार मसल दिया।

मेरा छिद्र एक बड़े घूमते भँवर की तरह केले को अदंर लेने की कोशिश कर रहा था। मैंने केले को थपथपाया, ‘अब और इंतजार की जरूरत नहीं। जाओ ऐश करो।’

मैंने उसे अन्दर दबा दिया। उसका मुँह द्वार को फैलाकर अन्दर उतरने लगा। डर लगा, लेकिन दबाव बनाए रही। उतरते हुए केले के साथ हल्का सा दर्द होने लगा था लेकिन यह दर्द उस मजे में मिलकर उसे और स्वादिष्ट बना रहा था। दर्द ज्यादा लगता तो केले को थोड़ा ऊपर लाती और फिर उसे वापस अन्दर ठेल देती।

धीरे धीरे मुझमें विश्वास आने लगा- कर लूँगी।

जब केला कुछ आश्वस्त होने लायक अन्दर घुस गया तब मैं रुकी, केले का छिलका योनि के ऊपर पत्ते की तरह फैला हुआ था। मेरी देह पसीने-पसीने हो रही थी।

अब और अन्दर नहीं लूँगी, मैंने सोचा। लेकिन पहली बार का रोमांच और योनि का प्रथम फैलाव उतने कम प्रवेश से मानना नहीं चाह रहे थे।

थोड़ा-सा और अन्दर जा सकता है !

अगर ज्यादा अन्दर चला गया तो?

मैं उतने ही पर संतोष करके केले को पिस्टन की तरह चलाने लगी।

आधे अधूरे कौर से मुँह नही भरता, उल्टे चिढ़ होती है। मैंने सोचा, थोड़ा सा और… !

सुरक्षित रखते हुए मैंने गहराई बढ़ाई और फिर उतने ही तक से अन्दर बाहर करने लगी। ऊपर बायाँ हाथ लगातार भग-मर्दन कर रहा था। शरीर में दौड़ते करंट की तीव्रता और बढ़ गई। पहले कभी इस तरह से किया नहीं था। केवल उंगली अन्दर डाली थी, उसमें वो संतोष नहीं हुआ था।

यह कहानी भी पड़े अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ मेरी सेक्स की कहानी

अब समझ में आ रहा था औरत के शरीर की खूबी क्या होती है, नेहा क्यों इसके पीछे पागल रहती है। जब केले से इतना अच्छा लग रहा था तो वास्तविक सम्भोग कितना अच्छा लगता होगा !?!

मेरे चेहरे पर खुशी थी। पहली बार यह चिकना-चिकना घर्षण एक नया ही एहसास था, उंगली की रगड़ से अलग, बेकार ही मैं इससे डर रही थी।

मुझे केले के भाग्य से ईर्ष्या होने लगी थी, केला निश्चिंत अन्दर-बाहर हो रहा था। अब उसे योनि से बिछड़ने का डर नहीं था। मैं उसके आवागमन का मजा ले रही थी। केले के बाहर निकलते समय योनि भिंचकर अन्दर खींचने की कोशिश करती। मैं योनि को ढीला कर उसे पुन: अन्दर ठेलती। इन दो विरोधी कोशिशों के बीच केला आराम से आनन्द के झोंके लगा रहा था। मैं धीरे-धीरे सावधानी से उसे थोड़ा थोड़ा और अन्दर उतार रही थी। आनन्द की लहरें ऊँची होती जा रही थीं, भगांकुर पर उंगलियों की हरकत बढ़ रही थी, सनसनाहट बढ़ रही थी और अब किसी अंजाम तक पहुँचने की इच्छा सर उठाने लगी थी।

बहुत अच्छा लग रहा था। जी करता था केले को चूम लूँ। एक बार उसे निकालकर चूम भी लिया और पुन: छेद पर लगा दिया। अन्दर जाते ही शांति मिली। योनि जोर जोर से भिंच रही थी। मैंने अपने कमर की उचक भी महसूस की।

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


नदी किनारे सेक्स स्टोरी हिन्दीलङकियो की चुदाईqhim đít cháu gái16Antarvasnasexkahani.comboor fatne ki xxx kahani comभाईन बहन कि चुत मारीटेबल पर बहु की चुदाई की कहानीSex kahaniya/बर्थडे गिफ्टSwarg ka ehsas sex story in marathipayal ke sath hotel me incest story part 2चूत चुदाई का खेलfarhin ki waterpark me chudai kahaniविधवा भाभी की बुर फाड़ चुदाईमा बोली बेटी मेरे मुह मे मूत दोदीदी, चाची की चुदाईमज़बूरी में अंजन लैंड से चुदाई कहानीसुसर के मोटे लंन्ड से बहु की चुदाई कहानियाँvasana बहन का सेक्स कहनीकच्ची उम्र मे शील तोड़ी स्टोरीSamuhik chudai m huva bura haalBaccha ka Nimbu jaisa Nipple storysaxe xxx antarvasnaपापा ने रात को चोदाantervsna aunti or bhabhibiwi ka dhudh pi ke chudai hindi sex storeeaiskrim malish or chudaiभाभी ने चुत मारना सिखायाके पेटीकोट का नाड़ा सेक्स स्टोरीजमेरी जब आँख खुली तो देखा कि मैं अस्पताल में था hindi sex storantarvasna लागे हैअन्तर्वासनाबड़े लड़ से गैर मर्द से चुदाई कहानीmeena boobsउनकी गांड पर लन्ड रखकरलंड की भूखी मेंरडी को कुतीया वनाकर चौदी विडीयोमेट्रो में मोटा लुंड गांड में लिया क्सक्सक्स सेक्स स्टोरीma ko pairdaba ke choda kahaniantarvasna in hindi new सामूहिक चुदाईमकान मालकिन की सहेली की चुदाईPhim sex địt nhau nhanh như ăn cướptai ki malish karte hue chudai latest sexstoryjudwa chakkar savita bhabhi kadi free download pdfभाभी को बांध कर antarvasnaअन्तर्वासना सेक्सी सफर कहनिया ट्रैन मईमेरा लंड सिकंदर बड़ी साली की चूत के अन्दर-4sexy stories karwa choth hindiX.antarwasnaBhabhi ne sex karna sikhaya antarvasna sex kahani hindi story hindiसेक्स कथा झोपेत लंड पकडलाPorn Babli kaki ghu hindi kahaniwww.damad ne choda sas ko sex stori hindi meचाची ने किया चुदाई रात भरछूटे की चुदाई अपने हाथ सेबडो की सेक्स कहानियाँनंदोईओं से मस्ती हिंदी सेक्स स्टोरीजBreast sahlate rhne se Kya hogaएक बार लौडा दे दे कमीनेचुदाई का मज़ा आ रहा है और गांड में अगलीमाँ की गांड को अपनी जीभ से चाटchacha ne chus liyaantarasana storiesचुदाई जामीन पर लिटाकेपहले बहन को फिर माँ की प्यास बुझाईपति के सामने दिल खोल के चूदीदुस्त का बैहेन Sxc Videoमोटे मोटे लण्ड की प्यासी माओं की चुदाईगुदा में उंगली करनाmummy bets hawas kankhसेक्सी हिंदी कहानीdipaliछोटी बहन के छोटे स्तनहाये रे मार डालेगा क्या sex kahaniAntarvasna xxx didi Barsatमेरे लण्ड के स्पर्श का अहसासantrwasna alwarकचची कली कि चुदाई विडियोdud pilai antarvasnaबुरमेरे सामने sex storymaa chudi gundo se hindi s sex storyरागिनी और उसके बहनो की सेक्सी कि चूत चुदाई बुर फाड कहानियाwwwxxx.xv.and.hindi.storisचुदाई चारो की बुरphimsetmyhangकाली चुतHinde.sixey.store.comSamdhi se chudvaya