केले का भोज Part – 3


वह झुककर मेरी पलकों को चूमता है। नेहा हँसती है। निर्मल, वह बेशर्म, कठोर मेरी बाईं चुचूक में दाँत काट लेता है। दर्द से भरकर मैं उठना चाहती हूँ। पर उनके भार से दबी हूँ। नेहा मेरे होंठ चूस रही है।

सुरेश कह रहा है,”अब मैं वह इज्जत लेने जा रहा हूँ जो तुमने केले को दी।”

मैं उसके चेहरे को देखती हूँ, एक अबोध की तरह, जैसे वह क्या करने वाला है मुझे नहीं मालूम।

नेहा मुझे चिकोटी काटती है,”डार्लिंग, तैयार हो जाओ, इज्जत देने के लिए। तुम्हारा पहला अनुभव। प्रथम संभोग, हर लड़की का संजोया सपना।”

सुरेश अपना लिंग मेरी योनि पर लगाता है, होंठों के बीच धँसाकर ऊपर नीचे रगड़ता है।

नेहा अधीर है,”अब और कितनी तैयारी करोगे? लाओ मुझे दो।”

उठकर सुरेश के लिंग को खींचकर अपने मुँह में ले लेती है।

मैं ऐसी जगह पहुँच गई हूँ जहाँ उसे यह करते देखकर गुस्सा भी नही आ रहा।

नेहा कुछ देर तक लिंग को चूसकर पूछती है,”अब तैयार हो ना? करो !”

निर्मल बेसब्र होकर होकर सुरेश को कहता है,”तुम हटो, मैं करके दिखाता हूँ।”

मैं अपनी बाँह से पकड़कर उसे रोकती हूँ। वह मुझे थोड़ा आश्चर्य से देखता है।

नेहा झुककर मेरे योनि के होंठों को खोलती है। निर्मल मेरा बायाँ पैर अपनी तरफ खींचकर दबा देता है, ताकि विरोध न कर सकूँ।

मैं विरोध करूंगी भी नहीं, अब विरोध में क्या रखा है, मैं अब परिणाम चाहती हूँ।

सुरेश छेद के मुँह पर लिंग टिकाता है, दबाव देता है। मैं साँस रोक लेती हूँ, मेरी नजर उसी बिन्दु पर टिकी है। केले से दुगुना मोटा और लम्बा।

छेद के मुँह पर पहली खिंचाव से दर्द होता है, मैं उसे महत्व नहीं देती।

यह कहानी भी पड़े विधवा औरत के साथ कामुकता

सुरेश फिर से ठेलता है, थोड़ा और दर्द। वह समझ जाता है मुझे तोड़ने में श्रम करना होगा।

नेहा को अंदाजा हो रहा है, वह उसका चेहरा देख रही है। वह उसे हमेशा निर्मल की अपेक्षा अधिक तरजीह देती है। मुझे यह बात अच्छी लगती है। निर्मल जबर्दस्ती घुस आया है।

नेहा पूछती है,”वैसलीन लाऊँ?” पर इसकी जरूरत नहीं, चूमने चाटने से पहले से ही काफी गीली है।

सुरेश बोलता है,”इसको ठीक से पकड़ो।”

दोनों मुझे कसकर पकड़ लेते हैं। सुरेश, एक भद्रपुरुष अब एक जानवर की तरह जोर लगाता है, मेरे अन्दर लकड़ी-सी घुसती है, चीख निकल जाती है मेरी।

मैं हटाने के लिए जोर लगाती हूँ, पर बेबस।

सुरेश बाहर निकालता है, लेकिन थोड़ा ही। लिंग का लाल डरावना माथा अन्दर ही है। मेरा पेट जोर जोर से ऊपर नीचे हो रहा है।

मेरी सिसकियाँ सुनकर नेहा दिलासा दे रही है,”बस पहली बार ही…… ”

निर्मल- असभ्य जानवर क्रूर खुशी से हँस रहा है, कहता है,”बस, अबकी बार इसे फाड़ दे।”

नेहा उसे डाँटती है।

ललकार सुनकर सुरेश की आँखों में खून उतर आया है।

मुझे मर्दों से डर लगता है, कितने भी सभ्य हों, कब वहशी बन जाएँ, ठिकाना नहीं।

नेहा सुरेश को टोकती है,”धीरे से !”

मगर सुरेश के मुँह से ‘हुम्म’ की-सी आवाज निकलती है और एक भीषण वार होता है।

मेरी आँखों के आगे तारे नाच जाते हैं, निर्मल और नेहा मुँह बंद कर मेरी चीख दबा देते हैं।

कुछ देर के लिए चेतना लुप्त हो जाती है…

मेरी आँखें खुलती हैं, नजर सीधी वहीं पर जाती है। सुरेश का पेडू मेरे पेडू से मिला हुआ है। लिंग अदृश्य है। मेरे ताजे मुंडे हुए पेडू में उसके पेड़ू के छोटे छोटे बालों की खूंटियाँ गड़ रही हैं।

यह कहानी भी पड़े अनजानी भूल में चूत चुदवा बैठी

सब मेरा चेहरा देख रहे हैं। नेहा से नजर मिलने पर वह मुसकुराती है। सुरेश धीरे धीरे लिंग निकालता है। लिंग का माथा लाल खून में चमक रहा है। मुझे खून देखकर डर लगता है। आँसू निकल जाते हैं, यह मेरा क्या कर डाला।

लेकिन नेहा प्रफुल्लित है, वह ‘बधाई हो’ कहकर मेरा गाल थपथपाती है।

निर्मल ताली बजाता है,”क्या बात है यार, एकदम फाड़ डाला !”

सुरेश मानों सिर झुकाकर प्रशंसा स्वीकार करता है।

सभी मुस्कुरा रहे हैं, मैं सिर घुमा लेती हूँ।

निर्मल बढ़ता है और मेरी योनि से रिस रहे रक्त को उंगली पर उठाता है और उसे चाट जाता है,”आइ लाइक ब्ल्ड” (मुझे खून पसंद है।)

नेहा उसे देखती रह जाती है, कैसा आदमी है !

निर्मल उत्साह में है,”तगड़ा माल तोड़ा है तूने याऽऽऽऽर…… ”

बार-बार बहते खून को देख रहा है।

सुरेश आवेश में है, खून और निर्मल की उकसाहटें उसे भी जानवर बना देती हैं। वह फिर से लिंग को मेरी योनि पर लगाता है और एक ही धक्के में पूरा अन्दर भेज देता है। मैं विरोध नहीं करती, हालाँकि अब मेरे हाथ पैर छोड़ दिए गए हैं, पर अब बचाने को क्या बचा है?

नेहा भी उत्साहित है,”अब मालूम हो रहा होगा इसको असली सेक्स का स्वाद। इतने दिन से मेरे सामने सती माता बनी हुई थी। आज इसका घमण्ड टूटा। जब से इसे देखा था तभी से मैं इस क्षण का इंतजार कर रही थी।”

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


मेरी मम्मी के चहरे में सुबह मुस्कान थी सेक्स स्टोरीईशका मालकीन चुदाई कहानीपत्नी को जमके चोदाकावेरी सेक्सी कहानीचोदकर पेट से कर दियामेट्रो मे आंटी की चुदाईघर में सामूहिक चुदाई.comantrvasna. randi saas rajniदीदी जीजाजी मॉम डैड की चुदाई स्टोरीजअन्तर्वासना आंटी को घर परmai hu anjali chudai storyNEWBRAPANTEYअन्तर्वासना भाई बहन दारू पी केपेटीकोट उठाकर चूत मारी पापा ने मम्मी कीPuchit land new hindi kathaचूत चूतantarvasna केवल माँ और हिंदी में samdhi सेक्स कहानियाँफुला चुतChudai ke baad choot picsFrind ke sade me sex vedio hindeहाये रे मार डालेगा क्या sex kahanibhai ne bhahn ko bhatharum me codh.comKarsanji ki kahaniyan hindi me//buyprednisone.ru/sexy-didi-ki-chudai-sex-kahani/hum open minded hai chudai ke liyeमेरी चुत लंड मांगरही हैantarvasna लागे हैGarndmari.behen.ki.hindi.meWww raj sarma sex stories hindi com उसने मेरी बीवी की चूत देख ली थीभाभी ने मुझे मुठ मारते देखा xxx xसलोनी की प्यारी चुदाई की कहानीबेहेन को चोदporn video hindi pelo ptak kexxxsarifMamma ko choda masaj karke khanisareef larki sexy Kahaniलड़के से अपना दूध कैसे चुसवाए??ofhish me fhak hindi xxxमाँ को घोड़े पर बिठा कर चोदाchut kholo mujhe land dalna haमामी का दूध पियाBhabhi ke sath dhokha Viagra lund chut gandकमली काकी के सैक्स विडियोनदी किनारे सेक्स स्टोरी हिन्दीबुर मेँ लंडindian seyx videos 25 वरश आनटिnancy ki xxx kahanixxx history badi maa aur badi dedididi ke kankh par baalरिता कि चुदाईpanchagani me biwi ki chudaiबस मै मज़े दिएKamuktasexचोदकर पेट से कर दियादीदी की सफ़र में चूत चुदाईचुदाई की बारी सीलपैक कहानीयाँमम्मी की,मस्त चूदाईBhu sasur porn padhe hindiantervasna dot comठाकुर का खेत और उसकी बहु गंदी चुदाईMalaren chut pronwww.chod.chod.ke.ruladiya.hindi.sex.kahaniबगालि सेकसि सुत कि चुदाई विडियेमेरी चुदाईउनकी गांड पर लन्ड रखकरमॉ के कहने पर दीदी कोmameri bhabhiKalawati ki chudaipart chudai kahaniyaभाभी के बुर का स्वाद कहानीमेरा लंड सिकंदर बड़ी साली की चूत के अन्दर-4sabrina ki chudai ki kahani part 2Badi Didi ko Gand me Mar sadi suds storypayal ke sath hotel me incest story part 2dimpl sali ki sex storyनदी किनारे चूत पुकारेकामोन्माद चुदाईSavata bahbhi kay davarbahbhi six kahiya hind marathभाभी को पटककर जबरदस्ती चोदाई कीचूत चुदाई का खेलpishtola dekhai cbudaiantrvaasna bhabhi ko कपडे बदलते देखाबीवी की अदला बदली चूदाई मस्त राम चूदाई कहानियाँचुचियों का दबाचुदगई बोस की बीबीबाप के साथ सुहागरात मनाईमूतती बुर बहन कीमालिक ओर 3 नोकरानी कि चुदाइ काहानिMaa ki iccha bete ne puri kiताऊ जी का लन्ड मम्मी की चूत मेंपड़ोसन छूट की स्टोरीचुदाईजारीNurs ki jhante kahaniबहन.चौद.डौट.कौमताई चुदाई की कहानी