मस्त माल भाभी की चूत चोदकर सेवा की


Click to Download this video!

Bhabhi Sex : हेल्लो दोस्तों मैं आप सभी का में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मैं पिछले कई सालों से इसका नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती जब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है।
मेरा नाम अवि है। मै आगरा में रहता हूँ। मेरी उम्र 23 साल की है। मै एक लंबे तगड़े गरे शरीर का मालिक हूँ। मुझे सेक्स करना बहुत अच्छा लगता है। मेरा लौड़ा 10 इंच का बहुत ही तगड़ा और आकर्षक लगता है। साड़ी लडकिया। मेरे शरीर को देख कर मेरे लौड़े का अन्दाजा लगा लेती है। मैं रोज जिम जाता हूँ। मेरी बॉडी बहुत जी आकर्षक और शुडौल बन गई है। दोस्तों मै बहुत ही स्मार्ट लगता हूँ। मैंने अपने मोहल्ले की कई सारी लड़कियों को चोद कर चुदाई का आंनद दिया है। मुझे भी इन लोगो ने अपनी चूंचियो को पिला कर मुझे अपनी चूंचियों के रसपान का आंनद दिया है।
दोस्तों मै आगरा में एक गांव में रहता हूँ। मेरे गाँव का नाम शहीदी पुरवा है। मैं अभी तक तैयारी पर जुटा हुआ हूँ। मै तैयारी कानपुर में करता हूँ। मै वहीँ पर रूम लेकर रहता हूँ। मै कानपुर में मेडिकल की तैयारी करता हूँ। मैंने अभी 1 साल पहले जी तैयारी करने को गया था। मेरा मेडिकल में सेलेक्शन हो गया। मै कुछ दिन के लिए घर आया हुआ था। मैंने घर पर आकर सबको बताया तो सब लोग बहुत खुश हुए। मै दो भाई ही हूँ। मेरी कोई बहन नहीं है। मेरे पापा कपडे की दुकान चलाते हैं। मैं भी पहले वही पर बैठता था। मेरे बड़े भाई का नाम अभी है। बड़े भाई मुझसे 7 साल बडे हैं। बड़े भाई की शादी हो गई है। वो दिल्ली में एक कंपनी में जॉब करते है। भाभी घर पर ही रहती है। भैया हफ्ते भर में एक बार आया करते हैं। भाभी भी भाई के साथ दिल्ली में ही रहना चाहती थी। लेकिन बड़े भाई की कुछ मजबूरी से भाभी को घर पर ही रहना पड़ रहा था।
भाभी बहुत ही गजब की माल लगती थी। भाभी का रंग तो सावला था। लेकिन बहुत ही हॉट और सेक्सी लगती थी। मेरा तो लंड भाभी को देख कर मीनार बन जाता था। भाभी का बदन बहुत ही रसीला था। भाभी की बॉडी चोदने को एक दम परफेक्ट थी। मैं भी सोचता भाभी की तरह मुझे भी पत्नी मिल जाये। तो मैं पूरी रात उसे चोदूंगा। मै भाभी की बातों में खूब मजे लेकर मस्ती करता था। भाभी को भी बहुत मजा आता था। मैं जब तक रहता था। हम दोनों लोग खूब ढेर साड़ी मस्ती करते थे। भाभी भी बड़ी रंगीन मिजाज की लगती थी। मैंने भाभी को कई बार पकड़ कर किस किया है। भाभी मुझे किस करने से नहीं रोकती थी। लेकिन गालो पर किस करना मेरे लिए आम बात थी। भाभी कोई विरोध नहीं करती थीं।
मै अक्सर भाभी की गालो को पकड़ कर खींच लेता था। भाभी की गालो गालो को पकड़कर किस भी कर लेता था। भाभी को मेरा ये सब करना बहुत ही अच्छा लगता था। मैं एक दिन भाभी के साथ बैठा हुआ था। भाभी आज मुझे बहुत ही तीखी नजरो से देख रहीं थी। मैंने भाभी की तरफ देखा तो मैं देखता ही रह गया। भाभी को गौर से देखने पर भाभी आज एक दम झकास माल लग रही थी। पापा दुकान पर चले गए थे। मम्मी मामा के यहां गई हुई थी। मेरे मामा का घर पास के ही एक गांव में है। मम्मी अक्सर आया जाया करती हैं। भाभी ने उस दिन कुछ ज्यादा ही मेक अप किया हुआ था। होंठो पर लाल कलर की लिपस्टिक लगाकर। काले रंग का लिप लाइनर लगाए हुए थी। आँखों ने जबरदस्त काजल लगा हुआ था। भाभी आज सावली से गोरी लग रही थी। भाभी के दोनों गाल खूब गोरे गोरे लग रहे थे। भाभी की गाल ब्लश करने से लाल लाल दिख रहा था। भाभी बहुत हो हॉट लग रही थी। जी करने लगा भाभी की दोनों गालो को काट कर खा जाऊं।
भाभी की दोनों होंठो को चूसने के लिए मेरे होंठ तड़प रहे थे। भाभी के दोनों होंठ बहुत ही अच्छे लग रहे थे। भाभी की होंठ कमल की पंखुड़ियों जैसे लग रगे थे। भाभी भी आज बहुत गजब की लग रही थी।
भाभी से मैंने कहा-“भाभी आज तो तुम कुछ ज्यादा ही हॉट लग रही हो”
भाभी-“भाभी हॉट तो मैं हूँ ही उनमे लगबे वाली क्या बात है”
मैं-“वो तो तुम हो ही लेकिन आज कुछ ज्यादा ही लग रही हो”
भाभी-“अवि अब तुम ज्यादा तारीफ़ ना करो। कुछ भी हो मै कितनी भी हॉट और सेक्सी हूँ। लेकिन ये सब किस काम की”
मैं-“क्या कहना चाह रही हो भाभी”
भाभी-“तुम सब समझ रहे हो। इतने छोटे नहीं हो तुम”
मै और भाभी पास ही सोफे पर बैठे थे। भाभी की ये कहानी मुझे सब कुछ समझ में आ रही थी। लेकिन मैंने सीधापन का नाटक करके कहने लगा।
मै-“सच में भाभी मुझे कुछ समझ में नहीं आया। बताओ क्या बात है”
भाभी-“रहने दो तुम नहीं समझोगे”
मै-“मै समझ गया भाभी क्या मामला है”
भाभी-“बड़ी जल्दी बड़े हो गए जो इतनी जल्दी समझ गए”
मैं-“भाभी आज इतना क्यूँ तुम सज धज कर बैठी हो”
भाभी-“ताकि तुम देखो। तुमको पटा के परपोज़ करना है हमें”
मै-” मुझे क्यों परपोज़ करोगी। तुम्हारी शादी भी तो हो चुकी है”
भाभी-“लेकिन मेरे पति कहाँ है। मै अकेली ही हूँ अब भी”
भाभी चुदासी थी। भाभी की हवस की नजर मुझे बहुत ही अच्छी लग रही थी। भाभी की नजरों को देख देख कर मेरा लौड़ा मीनार होता जा रहा था।
मै-“तो क्या हुआ भाभी भैया नहीं है। मै तो हूँ”
भाभी-” तुम किस काम के हो”
मै-“मैं हर एक काम का हूँ। आप आज्ञा तो दें”
भाभी-” अच्छा ”
मै-“भाभी के पास जाकर भाभी के कान में कहने लगा। क्या काम है”
भाभी के कान में कहते हुए मैंने हमेशा की तरह गालो पर किस कर लिया। भाभी की गाल आज खूब चिकनी लग रही थी। भाभी की गालो को पकड़ कर मैंने खींच लिया।
भाभी ने पहले तो मुझे घूर कर देखा। लेकिन कुछ नही बोली। भाभी की गालो को पकड़ कर मैं खींच खींच कर खेल रहा था। भाभी की गाल बहुत ही सॉफ्ट लग रहे थे उस दिन। भाभी की आँखों में आँखे डालकर मैंने चुदाई की झलक देखी। मैंने फिर से भाभी को किस किय। भाभी ने मुझे इस बार पकड़ लिया। कहने लगी-“आज मैं सिखाती हूँ तुम्हे किस करना। इतना कह कर भाभी मेरे होंठों को अपने होंठो के क़रीब ले जाकर मेरे होंठ को चूमने लगी। मै समझ गया भाभी आज कुछ ज्यादा ही गर्म है। मैंने कुछ नहीं बोला। सोचा जो भी होगा आज अच्छा ही होगा। भाभी की सारी मनोकामना आज पूरी ही कर देता हूँ। भाभी ने अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिया। मुझे जैसे जन्नत मिलने वाली हो। इतना मै खुश हो गया। भाभी की तरफ मैंने देखा तो भाभी अपनी आँखे बंद करके मेरे होंठ चूम रही थीं। मै कुछ देर तक तो चुप रहा लेकिन मैने भी अब साथ देने की सोचने लगा। भाभी की इस चूमने की प्रक्रिया में मै भी साथ देने लगा। मैंने भी भाभी की होंठो को चूसने लगा। भाभी तो सिर्फ मेरे होंठो को चूम ही रही थी। मैनें तो भाभी की होंठो को चूसना शुरू कर दिया। भाभी की होंठ चुसाई से मेरा लौड़ा तनता ही चला जा रहा था। पैंट का तंबू बन चुका था। जो की साफ़ साफ़ नज़र आ रहा था। भाभी भी अब मेरे होंठो को चूस रही थी। भाभी की होंठ को मैंने अपने होंठो से चूस चूस कर भाभी के लिपस्टिक को फैला दिया। भाभी की लिपस्टिक मेरे होंठो पर खूब अच्छे से लग गई। भाभी की होंठ को मैंने चूस कर लिप लाइनर को सबको हटा दिया।
जितना लिप्स्टिक भाभी की होंठ पर लगी थी। उतनी ही मेरे भी होंठो पर लग गई। भाभी की होंठ को मैंने अच्छे से चूस कर सारी लिपस्टिक का कचरा बना दिया। भाभी मेरे होंठो को देखकर हँस रही थी। मैं भी भाभी की तरह अपने होंठो पर लिपस्टिक लगाए हुए था। भाभी की होंठ चुसाई ने मेरी हिम्मत बढ़ा दी। भाभी को देखकर मैंने अपने होंठ को भाभी के मुँह में अंदर तक डाल कर भाभी की जीभ तक को चूसने लगा। भाभी अपनी जीभ को चुसवा रही थी। भाभी ने भी मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल कर मेरे जीभ से टच कऱा के मेरे जीभ को चूसने लगी। मैंने अपना एक हाथ उठाकर भाभी की चूंचियो पर रख दिया। बाप रे भाभी की चूंचियां इतनी सॉफ्ट होंगी मैंने कभी सोचा भी नहीं था। भाभी की चूंचियों को मसलने में बहुत मजा आ रहा था। भाभी कोई विरोध नहीं कर रही थी।
बस अपनी साँसे बढ़ा रही थी भ ही की साँसे बहुत ही तेज हो चुकी थी। भाभी की साँसों को तेज देख कर लग रहा था। भाभी गर्म हो गई है। भाभी की गर्म साँसे मुझे बहुत ही जोश दिला रहीं थी। भाभी अपनी गरम साँसे मेरे नाक के सामने छोड कर होंठ चुसाई करवा रही थी। मैंने भाभी की होंठ चुसाई को बंद करके। मैंने भाभी की चूंचियो को दबाने लगा। भाभी की साँसे तेज होकर भाभी सिसकारियां लेने लगी। भाभी “आई..आई.आई..अहह्ह्ह्हह.इस्स्स.इस.सी सी सी सी.हा हा हा.” की आवाज की सिसकारियां ले रही थी। मैंने भाभी की चूंचियो को और जोर जोर से दबाना शुरू किया। भाभी ने उस दिन साडी ब्लाउज पहने हुई थी। भाभी अक्सर घर पर यही पहनती थी। भाभी ने आज काले रंग की साडी और ब्लाउज पहने हुए थी। भाभी की कमर बहुत ही रसीली लग रही थी।
भाभी के साथ साथ मैं भी मूड में आ गया। मैंने भाभी की ब्लाउज की हुक को निकालने लगा। भाभी ने मेरे हाथों को रोक कर मेरे हाथों को पकड़ कर भाभी भी मेरे साथ अपने ब्लाउज का हुक खोलने लगी। भाभी ने क्रीम कलर की ब्रा पहने हुई थी। भाभी की ब्लाउज निकलते ही भाभी की चूंचिया दिखने लगी। भाभी की चूंचियो को देखकर मै दंग रह गया। भाभी के जितनी गजब के बूब्स मैंने आज तक नहीं देखा था। भाभी की बूब्स को मैंने ब्रा सहित अपने हाथों में भर लिया।
भाभी की चूंचियों को दाबने में बहुत मजा आ रहा था। भाभी की चूंचियो को अच्छे से देखने के लिए मैंने भाभी की चूंचियो को ब्रा निकाल कर आजाद कर दिया। भाभी की चूंचियो को मैंने ब्रा के बिना देखकर और भी ज्यादा जोश में आ गया। भाभी ने मुझे अपने चूंचियो में सटा दिया। मै भाभी की चूंचियो में अपना मुँह लगाकर भाभी की चूंचियो को पीने लगा। भाभी की चूंचियो को दबा दबा कर पी रहा था। भाभी भी बड़े मजे से अपनी चूंचियां पिला रही थी। भाभी की चूंचियों के निप्पल को मैंने अपने मुँह में रख कर काटना शुरू किया। भाभी की चूंचियों के निप्पल को काटते ही भाभी “उ उ उ उ उ.अ अ अ अ अ आ आ आ आ..सी सी सी सी.ऊँ.ऊँ.ऊँ.” की सिसकारियां भरने लगती।
भाभी की चूंचियो को पीकर मैंने भाभी की साडी को निकाल दिया। भाभी की साडी की निकाल कर भाभी को मैंने पेटीकोट में कर दिया। भाभी के इस रूप को देखकर मेरा लौड़ा सहन नहीं कर पा रहा था। भाभी ने मुझे पकड़ कर अपने रूम में ले गई। जहां भैया आकर सुहागरात मनाते थे। भाभी की बिस्तर पर जाकर मैंने भाभी की पेटीकोट निकाल दिया। भाभी ने नीचे पैंटी पहन रखी थी। भाभी की पैंटी को भी मैंने एक झटके में अलग किया। भाभी की चूत के दर्शन करने के लिए मैंने भाभी की टांगों को फैला दिया। भाभी की टांगो को फैलाकर मैंने भाभी की चूत के दर्शन किया। भाभी की चूत बहुत ही चिकनी लग रही थी। भाभी की चूत को देख कर मैंने भाभी की चूत को सूंघने लगा। भाभी ने मुझे अपने चूत में दबाने लगी। मैंने भाभी की चूत पर जीभ लगा कर भाभी की चूत चटाई शुरू कर दी। भाभी की चूत चाटने से भाभी जोर जोर से मेरा सर दबाकर “ओहह्ह्ह.ओह्ह्ह्ह आ आ आ अह्हह्हह.अई.अई..अ. उ उ उ उ उ..” करने लगती। भाभी की चूत को चाटकर मैंने अपने जीभ की प्यास बुझा रहा था। भाभी की चूत चाटने में बहुत ही मजा आ रहा था। भाभी की चूत को मैंने चाट चाट कर भाभी को खूब गर्म कर दिया। भाभी की चूत में अपनी जीभ अंदर तक डाल कर चुसाई चटाई कर रहा था।
भाभी की चूत का दाना बहुत ही अच्छा लग रहा था। भाभी की चूत के अंदर के माल को चाटकर साफ़ कर दिया। भाभी चुदवाने को तड़प रही थी। भाभी ने मुझे खड़ा करके मेरी पैंट को निकाल दिया। भाभी ने मेरा कच्छा निकाल कर मेरे लौड़े को अपने हाथों में लेकर खेलने लगी। भाभी इतनी जोश के के साथ कर रही थी। लग रहा था जैसे मेरा लौड़ा अभी काट कर खा जाएँगी। भाभी मेरे लौड़े को आगे पीची करके खेल रही थी। भाभी ने कुछ देर बाद खेलते हुए मेरे लौड़े को अपने मुँह में रख लिया। भाभी मेरे लौड़े को बहुत ही मजे ले ले कर आइसक्रीम की तरह चाट चाट कर चूस रही थी। भाभी की मुँह में मेरे लौड़े का टोपा घुसा हुआ था। मैंने भाभी की दोनों टांगो को फैलाकर भाभी की चूत में अपना लौड़ा रगड़ने लगा। भाभी की चूत में मेरा लौड़ा बहुत ही अच्छे से रगड़ रगड कर भाभी को तड़पा रहा था। भाभी ने मेरा लौड़ा पकड़कर अपनी चूत में डालने लगी। भाभी की चूत में मेरा लौड़ा घुस गया। भाभी की चूत में मेरा लौड़ा घुसते ही भाभी की चीख निकल गई।
भाभी तेज से “ओह्ह माँ..ओह्ह माँ.आह आह उ उ उ उ उ.अ अ अ अ अ..आआआआ–” की चीख निकालने लगी। मै भाभी की चूत को चोदकर भाभी को चुदाई का आनंद दे रहा था। भाभी की चुदाई मैने खूब तेज कर दी। भाभी की चुदाई को मैंने तेज कर दी। भाभी की चूत में मेरा लौंडा बहुत ही तेजी से अंदर बाहर हो रहा था। भाभी की चूत में मैंने अपना लौड़ा जड़ तक डाल डाल कर चुदाई कर रहा था। भाभी को बहुत मजा आ रहा था। भाभी “आऊ.आऊ.हमममम अहह्ह्ह्हह.सी सी सी सी.हा हा हा.” की आवाज निकाल कर चुदवा रही थी। भाभी चूत उछाल उछाल कर चुदवा रही थी। भाभी की चूत ने पानी छोड दिया। मैंने भाभी की चूत को अपने लंड से अलग किया। मैंने भाभी की चूत का सारा माल चाट लिया भाभी की चूत को मैंने अच्छे से चाट लिया।
भाभी की गांड़ में मैंने अपना लौड़ा घुसा दिया। भाभी की गांड़ फट गई। मेरा लौड़ा भाभी की गांड़ में घुसते ही भाभी “आआआअह्हह्हह.. .ईईई ईईईई.ओह्ह्ह्हह्ह..अई. अई..अई.. .अई.मम्मी..” की आवाज निकाल दिया। मैंने भाभी को झुकाकर भाभी की गांड़ में लौड़ा घुसा कर भाभी की गांड़ चुदाई करने लगा। भाभी की कमर पकड़ कर भाभी की चूत में अपना लौड़ा जल्दी जल्दी डालने लगा। भाभी की गांड़ में लौड़ा घुस घुस कर पानी छोड़ने की चरम सीमा पर पहुच गया। मै भी झड़ने वाला हो गया। भाभी से मैंने कहा भाभी मै झड़ने वाला हूँ। भाभी ने मुझे अपने गांड़ से अलग करके मेरा लौड़ा अपने मुँह में रखकर खूब जोर जोर से चूसने लगी। भाभी ने मेरे लौड़े को चूस चूस कर माल निकाल कर पी गई। हम दोनों लोग थक कर लेट गये। अब हमें जहां भी मन करता है। दोनों लोग खूब चुदाई करते हैं।

यह कहानी भी पड़े जीजा साली का प्यार

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


हिंदी सेक्स कामिकसपना का बदला 2 sxsi khaniyabhahen ke sexi camale toe ki dekhakar cudai kiमुझे लंड की भूखkuarichutसुमन ने लंड चूसाबुर से पानी निकलते देखाmaptram.dot.comराज शर्मा हिंदी सेक्स स्टोरी माँ बेटा खेत मेंGosiya mast sex hdbiwi chudi builder se in hindi sex kahaniyasadi ke bad MA sikhayi suhagrat kahani मेट्रो मे औरत को चोदेमाँ और मकान मालिक सेक्स स्टोरीजभैया कि रखैल चूदाई की कहानी जवान बेटी को चोदना सिखायाbur bule film gandi hindi hot mast bahen ki suhagraatपड़ोसन छूट की स्टोरीchudaiki kahinahi hindi videos story page 1मम्मि ने बुआ कि गान्डचुदक्कड औरतक्सक्सक्स विडोज़ इन हिंदी ससुर बहु पति संग ग्रुप चुड़ै इनdost ke papa aur meri maa ka najayaz sambhand Hindi sex storyKarwa Chauth mein chudai oxssip sex storyकस कर जमकर चुदाईबीवी की चुदाई का बदला कहानी//buyprednisone.ru/sexy-didi-ki-chudai-sex-kahani/Kali se phool bani sex story चुतमेरे दोस्त ने मेरी भाभी को चोदा-2maa ki bra panty maine kharidiasadharan rishton me chudaichuchi jore से masalne की कहानीरेलगाडी मेँ माँ चूदाई दिन मेँचूत में लंडमौसी थोड़ा ऊपर बैठी थी जिससे उसकी चूत से निकली पेशाब की धार दिखाई दे रही थीBhu sasur porn padhe hindiअन्तर्वासना .काली चुतHinde.sixey.store.comsex . रॅंड sexमेरी रेखा चाची की चुदाई कहानीमेरी चुदाईLadki ladke ke choot mein lund ko Condom Laga ki chudai Karti video dot-com sexyMeri उत्तेजना sex storybuaa ki chudai ki kahania sexbaba.comअन्तर्वासनाभाबी की अधूरी प्यास राज सेक्स कहानीचची की पेटीकोट का नाड़ाantarvasna group potimaa.beti or mousi ki chudai story लण्ड घुसाने लगेमाँ की घर में चुदाईचुचिघर में चुदाई करते देखा सेक्स स्टोरीmeri bhabhi ke kamuk uroj hindi sex storyशरीफ नौकरानी चुदाई की कहानियांxossip रामलाल और राधा बहूचूत चूतलङ चुतकहानीचूत फैलाकर लन्ड लियाm bua sex stori hindiडिलडो और माँ बेटी सेक्स कहानीdidi mutane lagiChudai karte karte duwa nikl geaअपने दोस्त की माँ को चोदाXxxnnxxx मम्मी के सामनेchocolate khilake maa ko choda xxx story HindiFrind ke sade me sex vedio hindeकामवाली को चुदाJawan chut ki kasaksarif larki ki seal todi bahana banakar in hindibadle me chudai ho rahi kahaniछत पर बहन की शील तोड़ कर चोदा कहानीहोटल म अमि कि चूदाईपड़ोसन चोदेगाxxx चोदाईताई सेकस कहानीमेरी चुत लंड मांगरही हैट्रेन यात्रा मे चुदाई की कहानीभाईन बहन कि चुत मारीलंबे और मोटे लंड से चुदी आंटीPhim sex nhanh địt nhau như ăn cướpबड़े भैया ने छोटी कमसिन बेहेन की प्यास बुझाई कामवासना कहानीaaj mai teri chut chod kar rahunga aahhhh bubyवैशाली की चुदाई अन्तर्वासना