ट्रेन यात्रा मे चुदाई की कहानी


Click to Download this video!

train mai chudai ki kahani ये बात लगभग १ साल पहले की है. हमारे रिश्तेदारी में किसी की डेथ हो गई थी. मेरे पति अपने काम धंधों में व्यस्त थे इसलिए मुझे ही वहां जाना पड़ा. ट्रेन का सफर था और मुझे अकेले ही जाना था इसलिए मेरे पति ने प्रथम श्रेणी एसी में मेरे लिए रिज़र्वेशन करवा दिया था.

रात को दस बजे की ट्रेन थी. मुझे मेरे पति स्टेशन तक छोड़ने के लिए आए और मुझे मेरे कूपे में बिठा कर टिकेट चेकर से मिलने चले गए. मेरा कूपा केवल दो सीटों वाला था.

अभी तक दूसरी सीट पर कोई भी पेसेंजेर नहीं आया था. मैंने अपने सामान सेट किया और अपने पति की इंतज़ार करने लगी. थोडी ही देर में मेरे पति वापस आ गए. उनके साथ ब्लैके कोट में एक आदमी भी आया था. वो टिकेट चेकर था. उसके उम्र करीब छब्बीस साल की थी, रंग गोरा और करीब पौने छह फीट लंबा हेंडसम नवयुवके लग रहा था. मेरे पति ने उससे मेरा परिचय करवाया. वो आदमी केवल देखने में ही हेंडसम नहीं था बल्कि बातचीत करने में भी शरीफ लग रहा था.

उसने मुझसे कहा

” चिंता मत कीजिये मैडम मैं इसी कोच में हूँ कोई भी परेशानी हो तो मुझे बता दीजियेगा मैं हाज़िर हो जाऊंगा. आपके साथ वाली बर्थ खाली है अगर कोई पेसेंजर आया भी तो कोई महिला ही आएगी इसलिए आप निश्चिंत हो कर सो सकती हैं.”

उसकी बातों से मुझे और मेरे साथ साथ मेरे पति को भी तसल्ली हो गई. ट्रेन चलने वाली थी इसलिए मेरे पति ट्रेन से नीचे उतर गए. उसी समय ट्रेन चल दी. मैंने अपने पति को खिड़की में से बाय किया और फिर अपने सीट पर आराम से बैठ गई. दोस्तों मुझे आज अपने पति से दूर जाने में बिल्कुल अच्छा नहीं लग रहा था. इसका कारण ये था कि मेरी मौसी हवारी ख़तम हुए अभी एक ही दिन बीता था और जैसा कि आप सब लोग जानते हैं मेरी जैसी चुदक्कड़ औरत की ऐसे दिनों में चूत की प्यास कितनी बढ़ जाती है. मैं अपने पति से जी भर कर चुदवाना चाहती थी लेकिन अचानक मुझे बाहर जाना पड़ रहा था. इसी कारण से मैं मन ही मन दुखी थी.

यह कहानी भी पड़े बीवी की प्रेगनेंसी में सास ने चुदवाया

तभी कूपे में वो हेंडसम टीटी आ गया. उसने कहा

“मैडम आप गेट बंद कर लीजिये मैं कुछ देर में आता हूँ तब आपका टिकेट चेके कर लूँगा.”

उसके जाने के बाद मैंने सोचा की चलो कपड़े बदल लेती हूँ. क्योंकि रात भर का सफर था और मुझे साड़ी में नींद नहीं आती. ये सोच कर मैंने गाउन निकालने के लिए अपना सूटकस खोला तो सर पकड़ लिया. क्योंकि मैं जल्दबाजी में गाउन के ऊपर वाला नेट का पीस तो ले

आई थी लेकिन अन्दर पहनने वाला हिस्सा घर पर ही रह गया था. जो हिस्सा मैं लाई थी वो पूरा जालीदार था जिसमें से सब कुछ दीखता था.

करीब दो मिनट बैठने के बाद मेरी अन्तर्वासना ने मुझे एक नया निर्णय लेने के लिए विवश कर दिया. मैंने सोचा कि क्यों आज इस हेंडसम नौजवान से चुदाई का मज़ा लिया जाए. ये बात दिमौसी ग में आते ही मैंने वो जालीदार केवर निकाल लिया और ज़ल्दी से अपनी साड़ी, ब्लाउज़ और पेटीकोट निकाल दिए. अब मेरे बदन पर रेड कल र की पेंटी और ब्रा थी. उसके ऊपर मैंने सफ़ेद रंग का जालीदार गाउन पहन लिया. वैसे उसको पहनने का कोई फायदा नहीं था क्योंकि उसमे से सब कुछ साफ़ नज़र आ रहा था और उससे ज्यादा मज़ेदार बात ये थी कि अन्दर पहनी हुई ब्रा और पेंटी भी जालीदार थी. इसलिए बाहर से ही मेरे निपल तक नज़र आ रहे थे. ख़ुद को आईने में देखकर मैं ख़ुद ही गरम हो गई. साड़ी तैयारी करने के बाद मैं अपनी सीट पर लेट गई और मैगज़ीन पढ़ते हुए टीटी का इंतजार करने लगी. मुझे इंतज़ार करते करते पाँच मिनट बीत गए तो मैंने सोचा कि क्यूँ न पहले खाना खाकर फ्री हो लूँ ये सोच कर मैंने अपना खाना निकाल लिया जो मैं घर से साथ लाई थी. खाना शुरू करते हुए मैंने सोचा कि खाने के बीच मैं टीटी टिकेट चेके करने आ गया तो बीच में उठ कर टिकेट निकालना पड़ेगा ये सोच कर मैंने अपने पर्स में रखा टिकेट निकाल लिया. टिकेट हाथ में आते ही मेरी आँखों के सामने उस टीटी का जवान बदन घूम गया और मेरे अन्दर की सेक्सी औरत ने अपना काम करना शुरू कर दिया. मैंने पहले ही जालीदार कपड़े पहने थे जिसमे से मेरा पूरा बदन दिखाई पड़ रहा था और फिर मैंने अपना टिकेट भी अपने बड़े बड़े स्तनों के अन्दर ब्रा के बीच मैं डाल लिया. अब वो टिकेट दूर से ही मेरे बायें उरोज के निप्पल के पास दिखाई दे रहा था.

यह कहानी भी पड़े बीबी की कुँवारी सहेली की चुत मे लंड

पूरी तैयारी के बाद मैं खाना खाने लगी. तभी मेरे कूपे का गेट खुला और टीटी अन्दर आ गया. अन्दर आते ही मुझे पारदर्शी केपडों में देखकर बेचारे को पसीना आ गया. वह बिल्कुल सकेपका गया और इधर उधर देखने लगा. मैंने उसका होंसला बढ़ाने के लिए उसकी तरफ़

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4 5 6

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


ससुर के साथ दुसरी सुहागरातtaai ki chudaai ki kahaaniPanditji ke sath sex storyअन्तर्वासना भाई बहन दारू पी केsex story ma or didi or biwi or khet majdur parivar.comदो चूत की चुदाई चिल्लाईहिन्दी मे उच्च स्वर मे चुदाईsakse cdai video dekayoसर्दी में सेक्स के मजेhindisexstoriessiteचुचीbeti ki pyas part 4Antrvasna mosi mosa or Mai ek sath Soye bad parबुआ की सील तोडीतन्हाई रूपाली सेक्सPanditji ke sath sex storyमोम नीचे का होंठ चूसना ः हिंदी सेक्स स्टोरीxvideos con dau len lutब्रा पेंटी सेल्समैन से चुद गई पोर्न कहानियांmere stan ki phuli hui tight golai hindi sex storystories masuka ki gaand me pelasexsstori.comXxx story ground ma ladki ki todi seal Hindi maमेरी चुत नही झेल पायेगीmarks badwane ke liye chudai antarvasnaअब डालो न सेक्स हिंदी कहानीसंकरी चुतTAI KI CHUDAI KI KHANIYAअंकल के साथ ड्रिंक चुदाई २आंटी ने मेरे साथ अपनी सुहागरात मनाईFacebook friend ki chudaiDidi se mom ki cudai tak ka,sfar sex storyपतिके सामने जिजाने किया सेक्स कथाभाभि देवर सेकस विडीवोदीदी केवल आज के लिए Hindi Sex Storiesमेरी बुर की कीमत है मोटा लन्डDelvre ki chot se aane ki khneyaमाँ को मसा ने रजाई में पेल कर गर्भवती कियाभाई ने मेरे को चोदNadan,sex,storimar pit kar mut pilakar chudai storiesपापा और उनके दोस्तो के साथ सामूहिक छुड़ाईmama bhanji ke pyare anterwaanaमाँ गांड फैलाते बेटाचुत और लंड का तक्करचुतकाहानीजवानी की चूत की फोटोwww.मावशीच्या जबरदस्ती sax कथा .comKulfi ki jagah lund chusayaदेवार ने पुनाम भाभी की चुत मारमममी बोली की चुत ने मत झडनाAntarvasna sadhuain ke choda kahaniमैंने चूत फैलाई पापा ने लंड डाल दियाब्रा के कप्स मुझे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे sex story in hindiअन्तर्वासनामाँ कीचुदाई देखी की कहाणी अंतरवासनाआँटी ने बस में मेजे से चुदाईवैशाली की चुदाई अन्तर्वासनाanterwaanaबुरचची की छूट की गर्मी मुझसे उतरी हिंदी स्टोरीpapa ke sath pehla sex rajai me. hindi sex storiesऊऊईईसफर में चुदा़यीXxx story in hindi maa banayabri didi ki phuli bur khanidady ne mujhe 11ench ke land se choda stori and stori .comSex kahaniya/बर्थडे गिफ्टहिंदी सेक्स स्टोरी नाभि के नीचे स्कर्टdaru ke nashe me chudai nonveg story.रिस्तों में मामी-भांजा चुदाईअनजान के साथ मेरी चुदाई