वासना की अग्नि -2


Click to Download this video!

जब उनकी हथेली चूचियों पर से गुज़रती तो वे दबती नहीं बल्कि स्वाभिमान में उठी रहतीं। मास्टरजी को स्वर्ग का अनुभव हो रहा था। इसी दौरान उन्हें एक और अनुभव हुआ जिसने उन्हें चौंका दिया, उनका लिंग अपनी मायूसी त्याग कर फिर से अंगडाई लेने की चेष्टा कर रहा था। मास्टरजी को अत्यंत अचरज हुआ। उन्होंने सोचा था कि दो बार के विस्फोट के बाद कम से कम १२ घंटे तक तो वह शांत रहेगा। पर आज कुछ और ही बात थी। उन्हें अपनी मर्दानगी पर गरूर होने लगा। चिंता इसलिए नहीं हुई क्योंकि प्रगति का सिर ढका हुआ था और वह कुछ नहीं देख सकती थी। मास्टरजी ने अपने लिंग को निकर में ही ठीक से व्यवस्थित किया जिस से उसके विकास में कोई बाधा न आये।

जब तक प्रगति की आँखें बंद थीं उन्हें अपने लंड की उजड्ड हरकत से कोई आपत्ति नहीं थी। वे एक बार फिर प्रगति के पेट के ऊपर दोनों तरफ अपनी टांगें करके बैठ गए और उसकी नाभि से लेकर कन्धों तक मसाज करने लगे। इसमें उन्हें बहुत आनंद आ रहा था, खासकर जब उनके हाथ बोबों के ऊपर से जाते थे। कुछ देर बाद मास्टरजी ने अपने आप को खिसका कर नीचे की ओर कर लिया और उसके घुटनों के करीब आसन जमा लिया। अपना वज़न उन्होंने अपनी टांगों पर ही रखा जिससे प्रगति को थकान या तकलीफ़ न हो।
मास्टरजी के घर से चोरों की तरह निकल कर घर जाते समय प्रगति का दिल जोरों से धड़क रहा था। उसके मन में ग्लानि-भाव था। साथ ही साथ उसे ऐसा लग रहा था मानो उसने कोई चीज़ हासिल कर ली हो। मास्टरजी को वशीभूत करने का उसे गर्व सा हो रहा था। अपने जिस्म के कई अंगों का अहसास उसे नए सिरे से होने लगा था। उसे नहीं पता था कि उसका शरीर उसे इतना सुख दे सकता है। पर मन में चोर होने के कारण वह वह भयभीत सी घर की ओर जल्दी जल्दी कदमों से जा रही थी।

यह कहानी भी पड़े मेरी शरीफ बहन को धोबी ने छिनाल बना दिया

जैसे किसी भूखे भेड़िये के मुँह से शिकार चुरा लिया हो, मास्टरजी गुस्से और निराशा से भरे हुए दरवाज़े की तरफ बढ़े। उन्होंने सोच लिया था जो भी होगा, उसकी ख़ैर नहीं है।

“अरे भई, भरी दोपहरी में कौन आया है?” मास्टरजी चिल्लाये।

जवाब का इंतज़ार किये बिना उन्होंने दरवाजा खोल दिया और अनचाहे महमान का अनादर सहित स्वागत करने को तैयार हो गए। पर दरवाज़े पर प्रगति की छोटी बहन अंजलि को देखते ही उनका गुस्सा और चिड़चिड़ापन काफूर हो गया। अंजलि हांफ रही थी।

“अरे बेटा, तुम? कैसे आना हुआ?”

“अन्दर आओ। सब ठीक तो है ना?” मास्टरजी चिंतित हुए। उन्हें डर था कहीं उनका भांडा तो नहीं फूट गया….
अंजलि ने हाँफते हाँफते कहा,”मास्टरजी, पिताजी अचानक घर जल्दी आ गए। दीदी को घर में ना पा कर गुस्सा हो रहे हैं।”

मास्टरजी,”फिर क्या हुआ?”

अंजलि,”मैंने कह दिया कि सहेली के साथ पढ़ने गई है, आती ही होगी।”

मास्टरजी,”फिर?”

अंजलि,”पिताजी ने पूछा कौन सहेली? तो मैंने कहा मास्टरजी ने कमज़ोर बच्चों के लिए ट्यूशन लगाई है वहीं गई है अपनी सहेलियों के साथ।”

अंजलि,”मैंने सोचा आपको बता दूं, हो सकता है पिताजी यहाँ पता करने आ जाएँ।”

मास्टरजी,”शाबाश बेटा, बहुत अच्छा किया !! तुम तो बहुत समझदार निकलीं। आओ तुम्हें मिठाई खिलाते हैं।” यह कहते हुए मास्टरजी अंजलि का हाथ खींच कर अन्दर ले जाने लगे।

अंजलि,”नहीं मास्टरजी, मिठाई अभी नहीं। मैं जल्दी में हूँ। दीदी कहाँ है?” अंजलि की नज़रें प्रगति को घर में ढूंढ रही थीं।

मास्टरजी,”वह तो अभी अभी घर गई है।”

अंजलि,” कब? मैंने तो रास्ते में नहीं देखा…”

मास्टरजी,”हो सकता है उसने कोई और रास्ता लिया हो। जाने दो। तुम जल्दी से एक लड्डू खा लो।”

मास्टरजी ने अंजलि से पूछा,”तुम चाहती हो ना कि दीदी के अच्छे नंबर आयें? हैं ना ?”

अंजलि,”हाँ मास्टरजी। क्यों? ”

मास्टरजी,”मैं तुम्हारी दीदी के लिए अलग से क्लास ले रहा हूँ। वह बहुत होनहार है। क्लास में फर्स्ट आएगी।”

अंजलि,”अच्छा?”

मास्टरजी,”हाँ। पर बाकी लोगों को पता चलेगा तो मुश्किल होगी, है ना ?”

यह कहानी भी पड़े एक कुंवारी लड़की की चुदाई

अंजलि ने सिर हिला कर हामी भरी।

मास्टरजी,”तुम तो बहुत समझदार और प्यारी लड़की हो। घर में किसी को नहीं बताना कि दीदी यहाँ पर पढ़ने आती है। माँ और पिताजी को भी नहीं…. ठीक है?”

अंजलि ने फिर सिर हिला दिया…..

मास्टरजी,”और हाँ, प्रगति को बोलना कल 11 बजे ज़रूर आ जाये। ठीक है? भूलोगी तो नहीं, ना ?”

अंजलि,”ठीक है। बता दूँगी…। ”

मास्टरजी,”मेरी अच्छी बच्ची !! बाद में मैं तुम्हें भी अलग से पढ़ाया करूंगा।” यह कहते कहते मास्टरजी अपनी किस्मत पर रश्क कर रहे थे। प्रगति के बाद उन्हें अंजलि के साथ खिलवाड़ का मौक़ा मिलेगा, यह सोच कर उनका मन प्रफुल्लित हो रहा था।

मास्टरजी,”तुम जल्दी से एक लड्डू खा लो !”

“बाद में खाऊँगी” बोलते हुए वह दौड़ गई।

अगले दिन मास्टरजी 11 बजे का बेचैनी से इंतज़ार रहे थे। सुबह से ही उनका धैर्य कम हो रहा था। रह रह कर वे घड़ी की सूइयां देख रहे थे और उनकी धीमी चाल मास्टरजी को विचलित कर रही थी। स्कूल की छुट्टी थी इसीलिये उन्होंने अंजलि को ख़ास तौर से बोला था कि प्रगति को आने के लिए बता दे। कहीं वह छुट्टी समझ कर छुट्टी न कर दे।
वे जानते थे 10 से 4 बजे के बीच उसके माँ बाप दोनों ही काम पर होते हैं। और वे इस समय का पूरा पूरा लाभ उठाना चाहते थे। उन्होंने हल्का नाश्ता किया और पेट को हल्का ही रखा। इस बार उन्होंने तेल मालिश करने की और बाद में रति-क्रिया करने की ठीक से तैयारी कर ली। कमरे को साफ़ करके खूब सारी अगरबत्तियां जला दीं, ज़मीन पर गद्दा लगा कर एक साफ़ चादर उस पर बिछा दी। तेल को हल्का सा गर्म कर के दो कटोरियों में रख लिया। एक कटोरी सिरहाने की तरफ और एक पायदान की तरफ रख ली जिससे उसे सरकाना ना पड़े। साढ़े १० बजे वह नहा धो कर ताज़ा हो गए और साफ़ कुर्ता और लुंगी पहन ली। उन्होंने जान बूझ कर चड्डी नहीं पहनी।

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


major sahb deenu pani kitchenलुधियानाकी देशी चूत बिडियोdevar bhabhi sex hindi bolchal me videoऋतु पर खुला चुदाईneharani ki chudaiलंडhavili M kaki antarvasnaचुदगई बोस की बीबीमामी की चूचीमाँ को घोड़े पर बिठा कर चोदाMummy k8 chudai watsaap ka karan sex storyqhim đít cháu gái16kamukta.mona.babe.ke.cut.mareसाली को चुपके से बोबे देखे Xxx storyमाँ बेटा राज शर्मा सेक्स स्टोरीजDevar bhabhi ki chudai sekhon Hindi sex video xxxsexy chudiya kese krte h fudi mrbane bali vedioबेहेन को चोदantarwasna kapde dhote samay niche baith kar chut dikhaibhabine chudai sikhai hindiपरिवार,कि,चुत,चुदाओकच्ची जवानी सैक्स स्टोरीमौसी कि चूततन्हाई रूपाली सेक्सआयशा की गांड चुदाईtau ki ladki ko us k sasural me sex storyaandhi bahen penti meNayana sexten thái lan porn ra nhiều nướcjhathu sex pron vidioचुदाई की तम्मनाchachi jin sax kahine hindपापा धिरे चोद लेदोनो ने बड़ी बेरहमी से पेलाKamukata naurseजाति लडकी कि खेत मे चुदाईचुदाई photohavili sax baba antarvasnaओह्ह माय गॉड फक मी सेक्स स्टोरीmajor sahb deenu pani kitchenSamdhi se chudvayaअन्तर्वासना फेसबुक par didi ko chodaदीदी, चाची की चुदाईसाली की चुदाईकरवा चौथ पर चुदाईगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीmardkanangabadanBur ke chhed me Land Ghusakar maza Marane ki kahaniGulabihoth chus ke chudai ki kahanichuse meri land bhenchodKhidki se dekhi chudai kahaniyaघर में भाभी को छोड़ा औलाद के लिए हिंदी कहानीचाचा भतीजी चुदाई पैँटीmummy ka nada khol ke malishचुदाई एक गाँव की कहानीdidi ke kankh par baalgarvati wifechutchudaiसेक्सी चूतचाची को चोदा सेक्स स्टोरीindiya he indiya porn hd hindi galiwlachudaiki kahinahi hindi videos story page 1neharani ki chudai storyमाँ और फूफा जी हिंदी सेक्स स्टोरीजवाजवीची गोष्टsangita tai ki chudai incest storiesBhabhi ke sath dhokha Viagra lund chut gandbahen ki chudai nahaya sex story writtenkiraye pr makaan dene k chudaai ki kahaaniबुआ के साथ शेकश कहानीKarsanji ki kahaniyan hindi meसेकसी चुत लडbeti rozana chudaibewafa chachi ki kahaniमाँ बेटे की चुदाई कहानियाँ दिखाएगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीचुदाईहिन्दी सेक्स स्टोरीचूत चोदना चुदाई खानामौसी कि चूतअंकल मेरा चुदाईअंधे से hindi sex storiesphim sex chi em nha kieu 2016mummy ka nada khol ke malishदीदी जीजाजी मॉम डैड की चुदाई स्टोरीजचुदाई मालकिन कीpyasi masqa sexy hindi storyसेक्सी काहानी लेजबियन माँ बेटी नंनदstanpan ki kamuk hindi kahaniyaसपना का बदला 2 sxsi khaniyaस्कूल गर्ल सेक्समेरी बहन झड़ने वाली थीपायल चुत चाटीchik nikal gaand faad indian sexचुदाईसेक्सी काहानी लेजबियन माँ बेटी नंनदsakse cdai video dekayoMalboos kiss sex videoगलती से धोखे से बदला सेक्स हिंदी कहानी