वासना की अग्नि -2


Click to Download this video!

जब उनकी हथेली चूचियों पर से गुज़रती तो वे दबती नहीं बल्कि स्वाभिमान में उठी रहतीं। मास्टरजी को स्वर्ग का अनुभव हो रहा था। इसी दौरान उन्हें एक और अनुभव हुआ जिसने उन्हें चौंका दिया, उनका लिंग अपनी मायूसी त्याग कर फिर से अंगडाई लेने की चेष्टा कर रहा था। मास्टरजी को अत्यंत अचरज हुआ। उन्होंने सोचा था कि दो बार के विस्फोट के बाद कम से कम १२ घंटे तक तो वह शांत रहेगा। पर आज कुछ और ही बात थी। उन्हें अपनी मर्दानगी पर गरूर होने लगा। चिंता इसलिए नहीं हुई क्योंकि प्रगति का सिर ढका हुआ था और वह कुछ नहीं देख सकती थी। मास्टरजी ने अपने लिंग को निकर में ही ठीक से व्यवस्थित किया जिस से उसके विकास में कोई बाधा न आये।

जब तक प्रगति की आँखें बंद थीं उन्हें अपने लंड की उजड्ड हरकत से कोई आपत्ति नहीं थी। वे एक बार फिर प्रगति के पेट के ऊपर दोनों तरफ अपनी टांगें करके बैठ गए और उसकी नाभि से लेकर कन्धों तक मसाज करने लगे। इसमें उन्हें बहुत आनंद आ रहा था, खासकर जब उनके हाथ बोबों के ऊपर से जाते थे। कुछ देर बाद मास्टरजी ने अपने आप को खिसका कर नीचे की ओर कर लिया और उसके घुटनों के करीब आसन जमा लिया। अपना वज़न उन्होंने अपनी टांगों पर ही रखा जिससे प्रगति को थकान या तकलीफ़ न हो।
मास्टरजी के घर से चोरों की तरह निकल कर घर जाते समय प्रगति का दिल जोरों से धड़क रहा था। उसके मन में ग्लानि-भाव था। साथ ही साथ उसे ऐसा लग रहा था मानो उसने कोई चीज़ हासिल कर ली हो। मास्टरजी को वशीभूत करने का उसे गर्व सा हो रहा था। अपने जिस्म के कई अंगों का अहसास उसे नए सिरे से होने लगा था। उसे नहीं पता था कि उसका शरीर उसे इतना सुख दे सकता है। पर मन में चोर होने के कारण वह वह भयभीत सी घर की ओर जल्दी जल्दी कदमों से जा रही थी।

यह कहानी भी पड़े होली में रंग लगाने के बहाने सगे देवर ने मेरी कसके ठुकाई की

जैसे किसी भूखे भेड़िये के मुँह से शिकार चुरा लिया हो, मास्टरजी गुस्से और निराशा से भरे हुए दरवाज़े की तरफ बढ़े। उन्होंने सोच लिया था जो भी होगा, उसकी ख़ैर नहीं है।

“अरे भई, भरी दोपहरी में कौन आया है?” मास्टरजी चिल्लाये।

जवाब का इंतज़ार किये बिना उन्होंने दरवाजा खोल दिया और अनचाहे महमान का अनादर सहित स्वागत करने को तैयार हो गए। पर दरवाज़े पर प्रगति की छोटी बहन अंजलि को देखते ही उनका गुस्सा और चिड़चिड़ापन काफूर हो गया। अंजलि हांफ रही थी।

“अरे बेटा, तुम? कैसे आना हुआ?”

“अन्दर आओ। सब ठीक तो है ना?” मास्टरजी चिंतित हुए। उन्हें डर था कहीं उनका भांडा तो नहीं फूट गया….
अंजलि ने हाँफते हाँफते कहा,”मास्टरजी, पिताजी अचानक घर जल्दी आ गए। दीदी को घर में ना पा कर गुस्सा हो रहे हैं।”

मास्टरजी,”फिर क्या हुआ?”

अंजलि,”मैंने कह दिया कि सहेली के साथ पढ़ने गई है, आती ही होगी।”

मास्टरजी,”फिर?”

अंजलि,”पिताजी ने पूछा कौन सहेली? तो मैंने कहा मास्टरजी ने कमज़ोर बच्चों के लिए ट्यूशन लगाई है वहीं गई है अपनी सहेलियों के साथ।”

अंजलि,”मैंने सोचा आपको बता दूं, हो सकता है पिताजी यहाँ पता करने आ जाएँ।”

मास्टरजी,”शाबाश बेटा, बहुत अच्छा किया !! तुम तो बहुत समझदार निकलीं। आओ तुम्हें मिठाई खिलाते हैं।” यह कहते हुए मास्टरजी अंजलि का हाथ खींच कर अन्दर ले जाने लगे।

अंजलि,”नहीं मास्टरजी, मिठाई अभी नहीं। मैं जल्दी में हूँ। दीदी कहाँ है?” अंजलि की नज़रें प्रगति को घर में ढूंढ रही थीं।

मास्टरजी,”वह तो अभी अभी घर गई है।”

अंजलि,” कब? मैंने तो रास्ते में नहीं देखा…”

मास्टरजी,”हो सकता है उसने कोई और रास्ता लिया हो। जाने दो। तुम जल्दी से एक लड्डू खा लो।”

मास्टरजी ने अंजलि से पूछा,”तुम चाहती हो ना कि दीदी के अच्छे नंबर आयें? हैं ना ?”

अंजलि,”हाँ मास्टरजी। क्यों? ”

मास्टरजी,”मैं तुम्हारी दीदी के लिए अलग से क्लास ले रहा हूँ। वह बहुत होनहार है। क्लास में फर्स्ट आएगी।”

अंजलि,”अच्छा?”

मास्टरजी,”हाँ। पर बाकी लोगों को पता चलेगा तो मुश्किल होगी, है ना ?”

यह कहानी भी पड़े Suhagraat Ke 15 Din Baad Bhabhi

अंजलि ने सिर हिला कर हामी भरी।

मास्टरजी,”तुम तो बहुत समझदार और प्यारी लड़की हो। घर में किसी को नहीं बताना कि दीदी यहाँ पर पढ़ने आती है। माँ और पिताजी को भी नहीं…. ठीक है?”

अंजलि ने फिर सिर हिला दिया…..

मास्टरजी,”और हाँ, प्रगति को बोलना कल 11 बजे ज़रूर आ जाये। ठीक है? भूलोगी तो नहीं, ना ?”

अंजलि,”ठीक है। बता दूँगी…। ”

मास्टरजी,”मेरी अच्छी बच्ची !! बाद में मैं तुम्हें भी अलग से पढ़ाया करूंगा।” यह कहते कहते मास्टरजी अपनी किस्मत पर रश्क कर रहे थे। प्रगति के बाद उन्हें अंजलि के साथ खिलवाड़ का मौक़ा मिलेगा, यह सोच कर उनका मन प्रफुल्लित हो रहा था।

मास्टरजी,”तुम जल्दी से एक लड्डू खा लो !”

“बाद में खाऊँगी” बोलते हुए वह दौड़ गई।

अगले दिन मास्टरजी 11 बजे का बेचैनी से इंतज़ार रहे थे। सुबह से ही उनका धैर्य कम हो रहा था। रह रह कर वे घड़ी की सूइयां देख रहे थे और उनकी धीमी चाल मास्टरजी को विचलित कर रही थी। स्कूल की छुट्टी थी इसीलिये उन्होंने अंजलि को ख़ास तौर से बोला था कि प्रगति को आने के लिए बता दे। कहीं वह छुट्टी समझ कर छुट्टी न कर दे।
वे जानते थे 10 से 4 बजे के बीच उसके माँ बाप दोनों ही काम पर होते हैं। और वे इस समय का पूरा पूरा लाभ उठाना चाहते थे। उन्होंने हल्का नाश्ता किया और पेट को हल्का ही रखा। इस बार उन्होंने तेल मालिश करने की और बाद में रति-क्रिया करने की ठीक से तैयारी कर ली। कमरे को साफ़ करके खूब सारी अगरबत्तियां जला दीं, ज़मीन पर गद्दा लगा कर एक साफ़ चादर उस पर बिछा दी। तेल को हल्का सा गर्म कर के दो कटोरियों में रख लिया। एक कटोरी सिरहाने की तरफ और एक पायदान की तरफ रख ली जिससे उसे सरकाना ना पड़े। साढ़े १० बजे वह नहा धो कर ताज़ा हो गए और साफ़ कुर्ता और लुंगी पहन ली। उन्होंने जान बूझ कर चड्डी नहीं पहनी।

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


सलवार चुदाई कथाpapa NE mere chuche dabaye Hindi sex khaniya chachara bhai say chodaiDesi hindi bade doodh waali aunty ko bus me choda hindi kaamuk storyमौसि के साथ tran मै xxx कहानिcchote larke ko बोल ke लालच से भाभी ne सेक्स क्या हिंदी कहानीChachi fufa or hamara naukar sex stories sexsstori.compani me tierna sikhane ke bhane chodaकाली चुतHinde.sixey.store.comपेटीकोट उठाकर चूत मारी पापा ने मम्मी कीबहु ओर ससुर की रास लीला se.comMa ki pyas bujhti nehi sex storisअंकल बेटे मिली भगत माँ की चुदाईनर्स सेक्स कहानियाँ Sex chut aaa 2Xxx xxxbhabhi kuchut aor land ki six video aor bateहिदी।चोदाई।चाहीmummy bets hawas kankhdudhihindi hindisex videoमम्मी को अंकल चोदने वाले थेसेक्स कहिय हिंदीMummy ke najayaj sambandh antarvasnaMakan Malkin ne kiraedar se chuday kahaniएक सेठानी जो मोटी थी जो लंड चुतkamukta hindi buaSexi kahani jb usne behos krke chodaचोदाइXnxxstore sex बहाना बनाDidi ko kursi pe chodaट्रक मे चोदाने विडियोsax.kahane.dost.mame.keचोदाईXXNXX COM. मेरी चूत कि चमड़ी चाटने लगा सेक्सी विडियों बुर मेँ लंडmardkanangabadanबुआ ने मुँह में ले लियाChudai ke baad choot picsartofzoo porn pilij.comहसीं और अनुभवी मस्त औरत की सेक्सी स्टोरी हिंदीअनजान के साथ मेरी चुदाईभाई और बॉस हिंदी सेक्सबीबीचुतकचची कली कि चुदाई विडियोलडकी ने पति के बदले ससुर के साथ सुहागरात मनायाअन्तर्वासना हिन्दी सेक्स स्टोरी बस और ट्रेन में बेटी के सामने चोदxxx video naighti and barra paintyनैन्सी भाभी की सेक्सी कहानीबीवी और बहन की च**** ट्रेन मेंदेसी लड़की की नथ उतारी सेक्सदुकान मालकिन ने चोदना सिखाया.comचुतउसने मेरी बीवी की चूत देख ली थीट्रेन में माँ की चुदाईbegani shadi mai bhen ki chut or gand fadi hindi storywww barrezesh xxxaunty k tarbuj jese chuchiya sex kananiyaअधेरे मे चुत मे उगली सविता भाभी पढ़ा रही है//buyprednisone.ru/antarvasna-sex-stories-pyara-sa-sapna/3/बेटे का प्यासा लंड Shakira Hindi chudai bur ka Choda saal meinphim sex pham bang bangभाभी ने मुंह पर मुठ्ठ माराWWW XXX शकसी कहनी चुदाई औरतसाड़ी ब्लाउज में सेक्सी वीडियो बूढ़ी औरत कीसेक्स कहानियाँ बहन की मद्द से भाबी को चोदा तो चुत फट गयीKapde utaare maine mami keमेरे सामने sex storyमूतती बुर बहन कीSaree utha ke chudi apne damad ji se sex storyलण्ड घुसाने लगेभाभी को बीसतार पर लेटा कार देवर ने मारी गाडpapa ki pari chud gayi storyभीड़ में मोटी सास के चूतड़ों का मज़ा स्टोरीAzeem gand chudai storybiwi ka dhudh pi ke chudai hindi sex storeePhupheri Behen ki choot main land daal diya kahaniमैं दीवानी चुदाईjawanladkichootgandu chuda bus me storiमामी को लण्ड के झटकेbaba ne kuwari sexkhaniyaरोज तुझसे चुदवाऊँगी खेत केघर में चुदाई कहानियाँचुदाई घर बहन भुआमम्मी की ब्लैक पंतय हिंदी सेक्स स्टोरी